• Hindi News
  • Madhya Pradesh News
  • Indore News
  • News
  • सिविल सर्जन पहुंचे तो नंदा नगर प्रसूति गृह और वृंदावन डिस्पेंसरी में स्टाफ ही नहीं मिला, साफ-सफाई भी नहीं थी
--Advertisement--

सिविल सर्जन पहुंचे तो नंदा नगर प्रसूति गृह और वृंदावन डिस्पेंसरी में स्टाफ ही नहीं मिला, साफ-सफाई भी नहीं थी

सोमवार सुबह सिविल सर्जन डॉ. एमपी शर्मा नंदा नगर प्रसूति गृह और वृदांवन कॉलोनी स्थित डिस्पेंसरी पहुंचे। दोनों जगह...

Dainik Bhaskar

Jun 12, 2018, 03:30 AM IST
सोमवार सुबह सिविल सर्जन डॉ. एमपी शर्मा नंदा नगर प्रसूति गृह और वृदांवन कॉलोनी स्थित डिस्पेंसरी पहुंचे। दोनों जगह ज्यादातर स्टाफ मिला ही नहीं। शर्मा ने अनुपस्थित रहने वाले कर्मचारियों को चेतावनी पत्र जारी कर कहा कि समय की पाबंदी को लेकर सतर्कता रखें और समय पर आएं। यदि दोबारा ऐसा पाया गया तो कार्रवाई की जाएगी।

शर्मा सुबह करीब 9.20 बजे नंदा नगर प्रसूति गृह पहुंचे। वहां सिर्फ डॉक्टर चित्रा श्रीवास्तव मौजूद थीं। अन्य स्टाफ नदारद था। पूछने पर पता चला कि रोज देर से आते हैं। यहां सफाई व्यवस्था भी लचर मिली। इसके बाद वृंदावन डिस्पेंसरी पहुंचे। यहां अर्बन हेल्थ मिशन के तहत प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र और पुरानी डिस्पेंसरी एक ही भवन में चलाई जा रही है। यहां सिर्फ नेत्र रोग विशेषज्ञ डॉ. गोयल मिले। यहां भी सफाई और बैठक व्यवस्था को लेकर स्टाफ ने शिकायत की। यहां ई बांदवाटने का काम भी ठीक से नहीं हो पा रहा था।

100 बेड का प्रस्ताव भेजा

हाल ही में शासन ने जिला अस्पताल के साथ मांगीलाल चूरिया अस्पताल के लिए भी 30 बेड के नए अस्पताल की मंजूरी दी है। इसके लिए करीब साढ़े चार करोड़ का बजट भी जारी कर दिया गया है। नंदा नगर प्रसूति गृह भी इसी क्षेत्र में है। इसके लिए मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय से 100 बेड के अस्पताल का प्रस्ताव भेजा गया है।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..