--Advertisement--

चंदेरी साड़ियों के बनने की कहानी कह गई चंदेरीनामा

शहर में यह एक ऐसा फिल्म फेस्टिवल हुआ जिसमें शहर के यंग फिल्ममेकर्स द्वारा बनाई गई डॉक्यूमेंट्रीज़ दिखाई गईं।...

Dainik Bhaskar

Jun 12, 2018, 03:40 AM IST
शहर में यह एक ऐसा फिल्म फेस्टिवल हुआ जिसमें शहर के यंग फिल्ममेकर्स द्वारा बनाई गई डॉक्यूमेंट्रीज़ दिखाई गईं। रविवार शाम हुए इस इंदौर फिल्मोत्सव में इन युवा फिल्ममेकर्स की 19 शॉर्ट फिल्म्स और तीन डॉक्यूमेंट्रीज़ की स्क्रीनिंग की गई। ये थीं आकाश मिहानी की फिल्म "मम' जो ऑस्कर में भी दिखाई जा चुकी है। इस फिल्म में शहर के कलाकार नितेश उपाध्याय लीड रोल में हैं। फिल्म उन नवजात बेटियों की मार्मिक कहानी कहती है। वे बेटियां जिनके जन्म पर जश्न नहीं मनाया जाता बल्कि उन्हें झाड़ियों में फेंक दिया जाता है। इस फिल्म में निर्देशक ने समाज का यह पहलू संजीदगी से दिखाया है।

दूसरी शॉर्ट डॉक्यूमेंट्री थी 13 मिनट की राष्ट्रीय पुरस्कार प्राप्त "चंदेरीनामा'। यह भी दिखाई गई जिसमें चंदेरी साड़ियों के बनने की कहानी है। इसमें ध्रुपद गायक गुंदेचा बंधु द्वारा गाया कबीर भजन "चदरिया झीनी रे झीनी' को भर शामिल किया गया है।

-शेष पेज 22 पर

Film Fest

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..