इंदौर

--Advertisement--

सदाबहार नगमों से सजी महफिल

इंदौर | गुज़रे दौर के गीतों से सजी शाम थी यह। महफिल-ए-सरगम और स्वरांजलि की ओर से हुए इस संगीत कार्यक्रम में वो चुनिंदा...

Dainik Bhaskar

Jun 13, 2018, 04:00 AM IST
सदाबहार नगमों से सजी महफिल
इंदौर | गुज़रे दौर के गीतों से सजी शाम थी यह। महफिल-ए-सरगम और स्वरांजलि की ओर से हुए इस संगीत कार्यक्रम में वो चुनिंदा सदाबहार गीत सुनाए गए जो अब भी पूरी शिद्दत से सुने और गुनगुनाए जाते हैं। इस महफिल की खास बात यह थी कि यहां कोई भी ट्रेंड सिंगर नहीं था। शौकिया गाने वाले थे। कुछ डॉक्टर्स, कुछ सीए और सीएस भी थे।

"उठे सबके कदम' गीत की प्रस्तुति से कार्यक्रम की शुरुआत हुई। अजय अग्रवाल ने गीत तुम भी चलो हम भी चलें और गुम है किसी के प्यार में सुनाया। इंतहा हो गई, परदा है परदा... गीत को मनीष शुक्ला ने बड़ी खूबसूरती और मस्ती से पेश किया। विनीत वर्मा ने मुझे तुम याद करना और मुझको याद आना तुम गीत व जयमाला लाड़ ने आपकी इनायतें गीत परफार्म किया। सीएस पिंकी श्रीवास्तव ने लंबी जुदाई गीत गाया, जिसमें उनका साथ ऑडियंस ने भी दिया। सीए सत्यम श्रीवास्तव ने रोज़-रोज़ आंखों तले, डॉ. संजय जैन ने दो दिल मिल रहे है व पहला नशा गीत बखूबी निभाया। संचालन टोनी शुक्ला ने किया। संगीत संयोजन इंटरनेशनल रिदम बैंड के राजेश मिश्रा का था।

इंदौर | गुज़रे दौर के गीतों से सजी शाम थी यह। महफिल-ए-सरगम और स्वरांजलि की ओर से हुए इस संगीत कार्यक्रम में वो चुनिंदा सदाबहार गीत सुनाए गए जो अब भी पूरी शिद्दत से सुने और गुनगुनाए जाते हैं। इस महफिल की खास बात यह थी कि यहां कोई भी ट्रेंड सिंगर नहीं था। शौकिया गाने वाले थे। कुछ डॉक्टर्स, कुछ सीए और सीएस भी थे।

"उठे सबके कदम' गीत की प्रस्तुति से कार्यक्रम की शुरुआत हुई। अजय अग्रवाल ने गीत तुम भी चलो हम भी चलें और गुम है किसी के प्यार में सुनाया। इंतहा हो गई, परदा है परदा... गीत को मनीष शुक्ला ने बड़ी खूबसूरती और मस्ती से पेश किया। विनीत वर्मा ने मुझे तुम याद करना और मुझको याद आना तुम गीत व जयमाला लाड़ ने आपकी इनायतें गीत परफार्म किया। सीएस पिंकी श्रीवास्तव ने लंबी जुदाई गीत गाया, जिसमें उनका साथ ऑडियंस ने भी दिया। सीए सत्यम श्रीवास्तव ने रोज़-रोज़ आंखों तले, डॉ. संजय जैन ने दो दिल मिल रहे है व पहला नशा गीत बखूबी निभाया। संचालन टोनी शुक्ला ने किया। संगीत संयोजन इंटरनेशनल रिदम बैंड के राजेश मिश्रा का था।

X
सदाबहार नगमों से सजी महफिल
Click to listen..