Hindi News »Madhya Pradesh »Indore »News» एमवायएच में गैर बीपीएल मरीजों का पांच लाख में होगा बोन मैरो ट्रांसप्लांट, अलग बनेगा भवन

एमवायएच में गैर बीपीएल मरीजों का पांच लाख में होगा बोन मैरो ट्रांसप्लांट, अलग बनेगा भवन

एमवायएच में गैर बीपीएल मरीजों काे बोन मैरो ट्रांसप्लांट कराने के लिए पांच लाख रुपए देना होंगे। यह फैसला बुधवार को...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 14, 2018, 04:05 AM IST

एमवायएच में गैर बीपीएल मरीजों काे बोन मैरो ट्रांसप्लांट कराने के लिए पांच लाख रुपए देना होंगे। यह फैसला बुधवार को एमजीएम मेडिकल कॉलेज में एग्जीक्यूटिव काउंसिल की बैठक में लिया गया। वहीं बीपीएल कार्डधारी मरीजों का ट्रांसप्लांट नि:शुल्क होगा। बोन मैरो ट्रांसप्लांट के लिए अलग भवन बनाने पर चर्चा हुई। प्रस्ताव रखा गया कि बिल्डिंग एयर टाइट हो, ताकि उसमें संक्रमण का खतरा नहीं रहे। किसी तरह का प्रदूषण नहीं आ पाए। इस दौरान केईएम भवन को पर्यटन विभाग से लेकर वापस चिकित्सा शिक्षा विभाग को हस्तांतरित किए जाने की मंजूरी दी गई। बैठक में 500 सीट के पैरामेडिकल इंस्टिट्यूट अॉफ मेडिकल साइंसेस को मंजूरी दी गई। इसमें 20 कोर्स होंगे।

डायरेक्टर को 3.50, प्रोफेसर को 3 लाख सैलरी

बैठक में कल्याणमल नर्सिंग होम में बनने वाले स्कूल ऑफ एक्सीलेंस फॉर ऑप्थैल्मोलॉजी (नेत्र विज्ञान) को लेकर भी बड़े निर्णय हुए। इसके डायरेक्टर की तनख्वाह साढ़े तीन लाख, प्राेफेसर की तनख्वाह तीन लाख, एसोसिएट प्रोफेसर की तनख्वाह ढाई लाख और असिस्टेंट प्रोफेसर की तनख्वाह डेढ़ लाख किए जाने पर सहमति बनी। सैलरी का यही खाका सुपर स्पेशिएलिटी अस्पताल के लिए भी होगा। बैठक में एसीएस राधेश्याम जुलानिया, संभागायुक्त राघवेंद्र सिंह, मेडिकल यूनिवर्सिटी के कुलपति डॉ. आरएस शर्मा भी मौजूद थे।

कुलपति शर्मा ने किया एमवाय अस्पताल का निरीक्षण

मेडिकल यूनिवर्सिटी के कुलपति डॉ. शर्मा एमवायएच में क्षेत्रीय केंद्र का निरीक्षण करने पहुंचे। उन्हें थोड़ी-बहुत कमियां मिलीं। उन्होंने यूनिवर्सिटी के को-ऑर्डिनेटर डॉ. वीएस भाटिया को को-आर्डिनेशन सेंटर व्यवस्थित करने के निर्देश दिए।

कार्यपरिषद की बैठक में 500 सीटों के पैरामेडिकल इंस्टिट्यूट को भी मंजूरी

ये निर्णय लिए

डॉ. एडी भटनागर को सुपर स्पेशिएलिटी अस्पताल का नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया। डॉक्टरों के लिए 100 स्टाफ क्वार्टर बनाए जाएंगे।

इमरजेंसी मेडिसिन, ट्रांसफ्यूजन मेडिसिन और हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन मेें तीन नए पीजी पाठ्यक्रम शुरू किए जाएंगे।

25 लाख की लागत से एडवांस लाइफ सपोर्ट सिस्टम वाली एम्बुलेंस खरीदी जाने को मंजूरी दी गई।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×