--Advertisement--

टैंकर से ईंधन चोरी के मामले में एस्सार ने नहीं दिया जवाब

मांगलिया स्थित हिंदुस्तान पेट्रोलियम (एचपी) के डिपो से निकले टैंकर से लसूड़िया क्षेत्र में ईंधन चोरी के मामले में...

Dainik Bhaskar

Jun 14, 2018, 04:05 AM IST
मांगलिया स्थित हिंदुस्तान पेट्रोलियम (एचपी) के डिपो से निकले टैंकर से लसूड़िया क्षेत्र में ईंधन चोरी के मामले में शुक्रवार को कलेक्टर सुनवाई करेंगे। मामले में प्रशासन ने एचपी और एस्सार कंपनी को नोटिस दिया था, लेकिन अब तक सिर्फ एचपी ने ही अपना जवाब पेश किया है। दूसरी ओर प्राथमिक जांच में एस्सार कंपनी के कर्मचारियों की गलती की बात भी सामने आई है। सुनवाई के दौरान ही इस पर फैसला लिया जाएगा। दोषियों के खिलाफ पुलिस केस दर्ज किया जाएगा।

उल्लेखनीय है कि सीएम हेल्पलाइन पर मांगलिया स्थित ऑइल डिपो से निकलने वाले टैंकरों से लसूड़िया क्षेत्र में पेट्रोल-डीजल की चोरी की शिकायत के बाद खाद्य विभाग की टीम ने 25 मई को यहां एक टैंकर को पकड़ा था, जिससे पेट्रोल और डीजल निकाला जा रहा था। यह टैंकर एस्सार कंपनी का था और एचपी कंपनी के डिपो से डीजल और पेट्रोल लेकर निकला था। विभाग ने टैंकर जब्त करते हुए ड्राइवर, क्लीनर और डिपो मालिक के खिलाफ प्रकरण दर्ज करवाया था। मामले की जांच के लिए अगले दिन सहायक खाद्य अधिकारी आरपी शर्मा टीम के साथ मांगलिया स्थित एचपी कंपनी के डिपो भी पहुंचे थे। जांच में सामने आया था कि एस्सार कंपनी एचपी से ईंधन लेती है, ईंधन देने के बाद एचपी कंपनी एस्सार कंपनी के नाम बिल बनाकर ड्राइवर को देती है। इस मामले में टैंकर 12.15 बजे लखन नामक ड्राइवर लेकर पहुंचा और 1.05 बजे देवीसिंह नामक ड्राइवर इसे बाहर लेकर निकल गया था। करीब डेढ़ बजे उसे पकड़ भी लिया गया था। वहीं एस्सार कंपनी ने इसका बिल 3.05 बजे जारी किया था, जबकि कंपनी को डिपो से निकलने से पहले ही बिल जारी करना था।

चेक पोस्ट पर होना थी जांच

वहीं, एचपी की ओर से भी चेकपोस्ट पर बाहर जाने वाले बिल की जानकारी चेक की जाना चाहिए थी। शर्मा ने बताया प्रारंभिक जांच में एस्सार कंपनी की मुख्य लापरवाही सामने आई थी। इस पर प्रशासन ने दोनों कंपनी को नोटिस जारी कर स्पष्टीकरण प्रस्तुत करने के निर्देश दिए थे। उन्होंने बताया अब तक एचपी ने ही स्पष्टीकरण पेश किया है। मामले में शुक्रवार को कलेक्टर को कोर्ट में सुनवाई होगी। इसमें दोषी पाए जाने पर संबंधितों के नाम भी एफआईआर में जुड़वाए जा सकते हैं। उन्होंने बताया पुलिस ने भी घटना के बाद दो अन्य आरोपियों को पकड़ा है।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..