• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Indore
  • News
  • 3 साल बाद रात में मूसलधार, 3 घंटे में पौने तीन इंच बारिश, 42 जिलों में भारी बारिश का अलर्ट
विज्ञापन

3 साल बाद रात में मूसलधार, 3 घंटे में पौने तीन इंच बारिश, 42 जिलों में भारी बारिश का अलर्ट

Dainik Bhaskar

Jul 13, 2018, 04:15 AM IST

News - भास्कर टीम | इंदौर/भोपाल/खंडवा प्रदेश के 18 से ज्यादा जिलों में बीते 24 घंटे में मानसून की तेज बारिश से जनजीवन बुरी...

3 साल बाद रात में मूसलधार, 3 घंटे में पौने तीन इंच बारिश, 42 जिलों में भारी बारिश का अलर्ट
  • comment
भास्कर टीम | इंदौर/भोपाल/खंडवा

प्रदेश के 18 से ज्यादा जिलों में बीते 24 घंटे में मानसून की तेज बारिश से जनजीवन बुरी तरह प्रभावित हुआ। इंदौर में बुधवार-गुरुवार रात 1 बजे से तड़के चार बजे तक मूसलधार बारिश हुई। इस दौरान 2.7 इंच (70 मिमी) पानी गिरा। तीन साल पहले रात के वक्त पौने दो इंच के करीब बारिश हुई थी। अब तक 296.5 मिमी (11.6 इंच) के करीब पानी गिर चुका है, जबकि इस समय तक औसत बारिश 246 मिमी होती है। यानी औसत से 20 प्रतिशत ज्यादा। मौसम विभाग ने भोपाल, इंदौर, उज्जैन, रतलाम, मंदसौर, देवास, होशंगाबाद, जबलपुर, ग्वालियर, रीवा, सीहोर समेत 42 जिलों में अगले 48 घंटे में भारी बारिश की चेतावनी जारी की है। शेष|पेज 8 पर



सबसे ज्यादा असर खंडवा क्षेत्र में हुआ। यहां कसरावद क्षेत्र में ओंकारेश्वर परियोजना की नहर फूटने से कई खेत डूब गए। महेश्वर में 5 इंच बारिश के बाद महेश्वरी नदी में बाढ़ आ गई। वहीं बुरहानपुर के शेखपुरा गांव में गुरुवार तड़के एक नाले में बाढ़ आने से 80 से ज्यादा मकान क्षतिग्रस्त हो गए। हरदा जिले के निमाचा ग्राम में वीरेंद्र नामक युवक की टिमरन नदी के बहाव में बहने से मौत हो गई। झाबुआ में लगातार तीन दिन से बारिश जारी है। यहां अनास नदी उफान पर है। उधर, भोपाल में लगातार 10 घंटे में 4 इंच, कसरावद में एक ही रात में चार इंच बारिश से कई इलाके कमर तक पानी में डूबे रहे। सड़कें लबालब हो गई।

उज्जैन में शिप्रा उफान पर, रामघाट स्थित मंदिर डूबे

बारिश से उज्जैन में शिप्रा उफान पर आ गई है। इस बारिश में पहली बार बड़नगर रोड स्थित छोटा पुल डूब गया। पुल पर शाम तक तीन फीट पानी था, जिससे इस मार्ग से आवागमन बंद हो गया।


20% अधिक बारिश दर्ज : प्रदेश में 1 जून से 12 जुलाई तक 18 जिलों में सामान्य से 20% अधिक वर्षा हुई है। 12 जिलों में सामान्य। 20 जिलों में सामान्य से कम। सबसे ज्यादा 16 इंच बारिश सीहोर में हुई है।


इसलिए हो रही तेज बारिश

पूर्व वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक एसके नायक ने बताया कि समुद्र तल पर मानसून लाइन झुनझुनू, शिवपुरी, सीधी, चाइबासा और दीघा तक फैली है। दीघा से पूर्वोत्तर में मध्य पूर्व बंगाल की खाड़ी में औसत समुद्र तल से 0.9 किमी ऊपर तक फैली है, यही वजह है कि प्रदेश के ज्यादातर हिस्सों में तेज बारिश हो रही है।

X
3 साल बाद रात में मूसलधार, 3 घंटे में पौने तीन इंच बारिश, 42 जिलों में भारी बारिश का अलर्ट
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन