• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Indore News
  • News
  • दुष्कर्म पीड़िता नाबालिग को 13 हफ्ते का गर्भ गिराने की कोर्ट ने दी अनुमति
--Advertisement--

दुष्कर्म पीड़िता नाबालिग को 13 हफ्ते का गर्भ गिराने की कोर्ट ने दी अनुमति

इंदौर | हाई कोर्ट की इंदौर खंडपीठ ने उज्जैन जिले के आगर तहसील में रहने वाली 16 साल की एक दुष्कर्म पीड़िता के 13 हफ्ते के...

Danik Bhaskar | May 18, 2018, 04:35 AM IST
इंदौर | हाई कोर्ट की इंदौर खंडपीठ ने उज्जैन जिले के आगर तहसील में रहने वाली 16 साल की एक दुष्कर्म पीड़िता के 13 हफ्ते के गर्भ को गिराने की अनुमति दे दी है। हाई कोर्ट के आदेश पर गठित किए गए मेडिकल बोर्ड ने अनुशंसा की थी कि गर्भपात किया जाता है तो बच्ची की जान को कोई खतरा नहीं होगा। जस्टिस प्रकाश श्रीवास्तव की बेंच के समक्ष बच्ची के परिजन ने अधिवक्ता दीपक रावल, धर्मेंद चेलावत के जरिए याचिका दायर की थी। याचिका में कहा गया था कि नाबालिग बच्ची से रणजीत नामक व्यक्ति ने शादी का झांसा देकर कई दिनों तक दुष्कर्म किया। वह बच्ची को बहला-फुसलाकर अपने साथ ले गया था। गर्भ का पता चलने पर परिजन उसे उज्जैन के सिविल अस्पताल ले गए, लेकिन डॉक्टरों ने दुष्कर्म का मामला होने का हवाला देकर गर्भपात करने से इनकार कर दिया। इस पर परिजन ने हाई कोर्ट का रुख किया। कोर्ट ने तत्काल मेडिकल बोर्ड गठित किया और बच्ची के गर्भ की रिपोर्ट पेश करने को कहा।