• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Indore
  • News
  • जिले की दोनों विधानसभा क्षेत्र की गड्ढे वाली सड़क की प्रक्रिया सरकारी प्रक्रिया में उलझी
--Advertisement--

जिले की दोनों विधानसभा क्षेत्र की गड्ढे वाली सड़क की प्रक्रिया सरकारी प्रक्रिया में उलझी

News - भास्कर संवाददाता | आलीराजपुर एक ओर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान प्रदेश की सड़कों को अमेरिका से भी बेहतर बता रहे...

Dainik Bhaskar

Apr 17, 2018, 03:40 AM IST
जिले की दोनों विधानसभा क्षेत्र की गड्ढे वाली सड़क की प्रक्रिया सरकारी प्रक्रिया में उलझी
भास्कर संवाददाता | आलीराजपुर

एक ओर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान प्रदेश की सड़कों को अमेरिका से भी बेहतर बता रहे हैं तो दूसरी ओर जिले में उनके ही दोनों विधायक सड़कों की स्थिति को लेकर कई बार चिंता जता चुके हैं। इसमें 6 जनवरी को कलेक्टोरेट में हुई जिला योजना समिति की बैठक में विधायक नागरसिंह चौहान ने आलीराजपुर से छकतला रोड की बदहाल हालत को लेकर चिंता जताई थी।

उनका कहना था कि मेरी विधानसभा में गड्ढे ही गड्ढे हैं, मंत्रीजी सड़कों को बनवाएं या मरम्मत करवाए। तो इसी प्रकार जोबट विधायक माधौसिंह डावर ने भी अपने क्षेत्र की सड़कों से परेशान होकर कहा था कि हम सड़कों के लिए किससे बात करे, हर विभाग एक-दूसरे पर टाल देता है। टांडा-बोरी चंद्रशेखर आजादनगर मार्ग पर गड्ढे ही गड्ढे हैं। इसे स्टेट हाइवे घोषित किया है। इस पर प्रभारी मंत्री विश्वास सारंग ने 10 जनवरी को भोपाल में सड़क निर्माण से जुड़ी सभी एजेंसियों लोनिवि, पीएमजीएसवाय, आरईएस, एमपीआरडीसी के अधिकारियों की बैठक रखी थी। जिसमें दोनों विधायक भी शामिल हुए थे। बैठक में सड़कों के एस्टीमेट बनाने के निर्देश दिए थे। इसमें जोबट नानपुर, आम्बुआ सेजावाड़ा, आलीराजपुर मथवाड़ सहित अन्य रोड शामिल थे।

एडीजी में चले जाने से मुख्य रोड बनाएंगे एमपीआरडीसी, लोनिवि सिर्फ नवीनीकरण करेगा : ईई उइके

आम्बुआ सेजावाड़ा मार्ग पर सिंगल पट्‌टी रोड है बदहाल। जिले की अन्य सड़कंे पर भी है गड्‌ढे।

दोनों विधायक सीएम से लगा चुके हैं गुहार

वहीं जोबट विधायक माधौसिंह डावर ने बताया कि 10 जनवरी को भोपाल में हुई बैठक के बाद विधायक नागरसिंह चौहान और मैं सीएम के पास सड़क निर्माण के संबंध में चर्चा करने गए थे। भाबरा-कट्ठीवाड़ा, खेडा मालपुर, बरझर मालपुर रोड को लेकर विवाद था। जैसे सड़क निर्माण में पेड़ कटवाने की मंजूरी के लिए फाइल दिल्ली गई है। इस पर हमने सीएम से मांग की कि इन्हें रिन्युअल में ही डाल दो और नवीनीकरण करवा दो। निर्माण की विभागीय प्रक्रिया हो जाएगी तो नया निर्माण हो जाएगा। जिस पर उन्होंने विभागीय प्रमुख सचिव को विभिन्न फंड को के रिन्युअल के आदेश दिए थे। फिलहाल सेजावाड़ा-आम्बुआ और आलीराजपुर मथवाड़ मार्ग के टेंडर लगे हैं जो 19 अप्रैल को खुलेंगे। हम इस कार्य से संतुष्ट है।

डीपीआर फिर बना रहे


इस संबंध में ईई लोनिवि केएस उइके ने बताया कि बैठक में हुए निर्णय के बाद हमारे द्वारा एस्टीमेट बनाकर भेज दिए गए थे। लेकिन अब ये रोड एडीजी (एशियन डेवलपमेंट बैंक) में चले गए हैं। इसके फंड से अब इन्हें एमपीआरडीसी ही बनाएगा। नया रोड साढ़े पांच मीटर चौड़ा बनेगा। फिलहाल आम्बुआ सेजावाड़ा मार्ग पर 25.2 किमी रोड का नवीनीकरण लोनिवि द्वारा किया जाएगा जिसके टेंडर 19 अप्रैल को खुलेंगे। वहीं आलीराजपुर-मथवाड़ मार्ग पर 41 किमी रोड के नवीनीकरण के लिए टेंडर शीघ्र लगाए जाएंगे।

इधर, शहर की 18 सड़कें लोनिवि ने नपा को सौंपी, अब नपा करेगी निर्माण व देखरेख

आलीराजपुर | जिले में आलीराजपुर, जोबट और चंद्रशेखर आजाद नगर में नगरीय सीमा में स्थित ऐसी सड़कें जो अभी तक लोक निर्माण विभाग के अधीन थी उन्हें अब पूर्ण रूप से नगरीय निकायों के हवाले कर दिया गया है। अब इन सड़कों का निर्माण और देखरेख संबंधित नगरीय निकाय ही करेगी। इस संबंध में लोनिवि विभाग ने अक्टूबर में सर्कुलर जारी किया था। अप्रैल में ये सड़कें संबंधित नगरीय निकायों को लोनिवि ने सौंप दी।

आलीराजपुर में 18 सड़कें नपा को मिली

लोनिवि केएस उइके ने बताया आलीराजपुर मथवाड़ रोड के तहत शहर के बस स्टैंड से रेलवे लाइन के आगे तक नगरीय सीमा का 2 किमी रोड, खंडवा-वडोदरा मार्ग पर तुलसी माता मंदिर तिराहे से सोरवा की ओर जाने वाला 2 किमी रोड, कॉलेज के समीप से इंदरसिंह चौकी की ओर जाने वाला 800 मी. रोड, कलेक्टोरेट, कॉलेज, अस्पताल, कलेक्टर निवास, डीजे निवास, ईई निवास, जिला न्यायालय, डाइट सहित करीब 18 रोड को नपा को हस्तांतरित कर दिया गया है।

चंद्रशेखर आजाद नगर में 5.2 किमी रोड सौंपा

वहीं चंद्रशेखर आजाद नगर में पोची ईमली से बैरियर के आगे तक 4.2 किमी रोड और 1 किमी दूरी का आमखुट पहुंच मार्ग नगर परिषद को सौंप दिया गया है।

जोबट में छोटे-छोटे तीन मार्ग सौंपे

इसी प्रकार जोबट में 600 मीटर की सड़क बोरी रोड पर, 400 मीटर की बड़ी खट्टाली रोड और 200 मीटर की कदवाल रोड नगर परिषद को सौंप दी गई। गौरतलब है नगरीय क्षेत्र में होने से इनमें से कई सड़कों की स्थिति विभिन्न कारणों से जल्द ही खराब हो जाती है। लोनिवि और नपा द्वारा सड़क के रखरखाव पर ध्यान न देते हुए एक-दूसरे के ऊपर टाल दिया जाता था। ऐसे में लाेगों को परेशानियों का सामना करना पड़ता था। अब नए सर्कुलर के आधार पर ये सड़कें नगरीय निकायों को मिलने से इनके निर्माण और रखरखाव के लिए नपा व नप स्वतंत्र रहेगी।

X
जिले की दोनों विधानसभा क्षेत्र की गड्ढे वाली सड़क की प्रक्रिया सरकारी प्रक्रिया में उलझी
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..