इंदौर

--Advertisement--

शबे कद्र की रात हजार महीनों की रातों से बेहतर

अल्लाह ने शबे कद्र की रात को हजार महीनो की रातों से बेहतर करार दिया हैं। यह रात इबादत में अपना अलग ही मुकाम रखती...

Dainik Bhaskar

Jun 14, 2018, 03:00 AM IST
अल्लाह ने शबे कद्र की रात को हजार महीनो की रातों से बेहतर करार दिया हैं। यह रात इबादत में अपना अलग ही मुकाम रखती हैं। अल्लाह ने 23 साल की मुद्दत से इस रात में कुरआन को नाजिल फरमाया। इस रात में अल्लाह हमारी जायज दुआओं नेक मकसद में कामयाबी देता है। शराबी, माता-पिता का फरमान नहीं मानने वाले, रिश्तों को खत्म करने वाले, लोगों से जलन करने वालों को अल्लाह माफ नहीं करता।

यह बात शहर के ईमाम अब्दुल खालिक साहब ने कही। आप मंगलवार रात साढ़े 10 बजे शबे कद्र की रात जामा मसजिद में समाजजनों के बीच तकरीर में बोल रहे थे। समाज ने पवित्र माह रमजान मुबारक में आने वाली शबे कद्र की रात इबादत में गुजारी। इस अवसर पर मस्जिद की सजावट की गई। शहर की दोनों मस्जिदों में रात में समाज के लोगो ने अल्लाह की इबादत की। मुस्लिम समाज के बुजुर्गों से लेकर बच्चे भी बड़ी संख्या में यहां नमाज अदा करने पहुंचे।

X
Click to listen..