--Advertisement--

लगातार तीसरे माह सामान्य से कम बारिश, अगस्त में सबसे कम

नई दिल्ली/भोपाल | मानसून के इस सीजन के दौरान अगस्त महीने में देशभर में सबसे कम बारिश हुई है। लेकिन विडम्बना यह है कि...

Danik Bhaskar | Sep 11, 2018, 03:32 AM IST
नई दिल्ली/भोपाल | मानसून के इस सीजन के दौरान अगस्त महीने में देशभर में सबसे कम बारिश हुई है। लेकिन विडम्बना यह है कि इसी महीने में केरल के ज्यादातर हिस्सों में बाढ़ आई और कई राज्यों में अधिक बारिश हुई। मौसम विभाग के आंकड़ों के अनुसार अगस्त में लॉन्ग पीरियड एवरेज (एलपीए) की 92 फीसदी बारिश ही हुई। इससे पहले जून में एलपीए की 95% और जुलाई में 94% बारिश हुई थी। शेष | पेज 9 पर





96 फीसदी से कम हुई बारिश सामान्य से कम मानी जाती है। यानी तीनों ही महीनों में बारिश सामान्य से कम रही। मौसम विभाग के अधिकारियों ने कहा कि देश के पूर्वी और पूर्वोत्तर के हिस्सों में बारिश कम होने की वजह से देशभर का आंकड़ा कम रहा है। मौसम विभाग के अनुसार केरल में एलपीए के 110 फीसदी से भी ज्यादा बारिश हुई थी। तटीय कर्नाटक, तेलंगाना, तटीय आंध्रप्रदेश और जम्मू कश्मीर में भी कमोबेश ऐसी ही स्थिति रही। दूसरी तरफ लक्षद्वीप, पूर्वी मध्यप्रदेश, पश्चिमी मध्यप्रदेश, झारखंड, पश्चिमी बंगाल के कुछ हिस्से, असम, मेघालय, अरुणाचल प्रदेश, पूर्वी राजस्थान, पश्चिमी राजस्थान, पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़ और दिल्ली में 90 फीसदी से भी कम बारिश हुई। अगस्त में 241.4 मिमी बारिश हुई, जबकि इसकी सामान्य मात्रा 261.3 मिमी है। आधिकारिक तौर पर भारत में दक्षिण पश्चिम मानसून जून से सितंबर तक रहता है। सामान्यत: यह 15 सितंबर से वापस लौटना शुरू कर देता है।

मप्र में 4 फीसदी कम बारिश

मप्र में अब तक 32.89 इंच बारिश हुई है। यह अब तक की सामान्य बारिश 34.27 इंच से 4 फीसदी कम है। इंदौर में अब तक 25 इंच बारिश हुई है। यह अब तक की सामान्य बारिश 29 इंच से 10 % कम है।