मध्यप्रदेश / खजराना, रोबोट चौराहे पर फ्लायओवर विजयनगर से सयाजी तक एलिवेटेड ब्रिज



Many flyovers will be built to get rid of jam
X
Many flyovers will be built to get rid of jam

  • ट्रैफिक पर सबसे बड़ी पहल सरकार-पुलिस-प्रशासन और जनता के साथ भास्कर प्रयास
  • जवाहर मार्ग ब्रिज : रिकॉर्ड 3 माह 26 दिन में तैयार, सेंट्रल लाइटिंग लगी, 26 से ट्रैफिक शुरू हो जाएगा

Dainik Bhaskar

Jan 23, 2019, 06:06 AM IST

इंदौर . इंदौर को ट्रैफिक की समस्या से निजात दिलाने की दिशा में प्रदेश सरकार ने मंगलवार को बड़ी घोषणाएं कीं। लोक निर्माण मंत्री सज्जनसिंह वर्मा ने शहर के प्रमुख चौराहों खजराना और रोबोट चौराहा पर फ्लायओवर बनाए जाने की बात कही है।

 

इसके अलावा विजय नगर चौराहा से सयाजी चौराहा तक एलिवेटेड ब्रिज भी बनाया जाएगा। वर्ल्डकप चौराहा और बंगाली चौराहा पर फ्लायओवर का काम पहले से ही शुरू हो चुका है। शहर की सबसे बड़ी समस्या ट्रैफिक को लेकर भास्कर ने पहल की थी। सरकार अब इस पर अमल कर रही है। 


मंगलवार को रेसीडेंसी कोठी पर विभाग की समीक्षा बैठक में उन्होंने चारों फ्लायओवर के प्रोजेक्ट की रिपोर्ट देखी। ट्रैफिक के दबाव को देखते हुए उन्होंने नवलखा और भंवरकुआं चौराहे पर भी छोटे ओवरब्रिज बजाए जाने के निर्देश दिए। उन्होंने यह भी कहा कि उक्त दोनों छोटे ब्रिज के निर्माण में यह भी ध्यान रखा जाए कि मेट्रो कहां से गुजर रही है।

 

ऐसा ना हो कि मेट्रो के रास्ते में ही फ्लायओवर बना दिए जाएं। विजय नगर चौराहे से सयाजी चौराहे तक एलिवेटेड ब्रिज बनाए जाने के भी निर्देश अफसरों को दिए हैं। इस दौरान अफसरों को जमकर लताड़ लगाते हुए वर्मा ने कहा कि मुझे गुणवत्ता वाले काम और समय प्रबंधन पसंद है। अगर प्रोजेक्ट निर्माण में देरी हुई तो सजा भुगतने के लिए तैयार रहें। मुझे काम में देरी बिलकुल पसंद नहीं है। 


मालवा मिल, पाटनीपुरा चौराहे पर ओवरब्रिज की भी मांग : कांग्रेसी नेताओं ने मांग रखी कि मालवा मिल चौराहे और पाटनीपुरा चौराहे पर भी ट्रैफिक की समस्या है। इसके लिए ओवरब्रिज बनाया जाना चाहिए। इस पर मंत्री ने आश्वस्त किया कि आगामी एजेंडे में इन दोनों चौराहों को शामिल किया जाएगा। 


डबलचौकी वाली रोड़ का होगा मेंटेनेंस : मंत्री वर्मा ने अफसरों को निर्देशित किया कि इंदौर से डबलचौकी तक की सड़क काफी जर्जर है। ऐसे में उसका मेंटेनेंस किया जाए। इसके अलावा आदिवासी क्षेत्रों में बन रहे छात्र और छात्राओं के होस्टल के निर्माण कार्य की प्रगति के बारे में जानकारी ली और उनका काम तेजी से करने के निर्देश दिए।

 

वर्तमान में धार, झाबुआ, अालीराजपुर, खरगोन, बड़वानी, राजपुर में होस्टल तैयार किए जा रहे हैं। साथ ही खंडवा और धार में हॉस्पिटल का निर्माण किया जाना है। इसके अलावा आदिवासी क्षेत्रों में 27 करोड़ रुपए की लागत से गुरुकुल का निर्माण भी किया जा रहा है।

 

साथ ही 14 अप्रैल बाबा साहेब आम्बेडकर की जयंती को लेकर महू स्थित उनकी जन्मस्थली पर भी कुछ काम किए जाने का कहा। इस दौरान उन्होंने कहा कि मंदिर स्मारक समिति की बैठक मुख्यमंत्री कमलनाथ के भोपाल लौटने पर कराई जाएगी।

 

जवाहर मार्ग ब्रिज रिकॉर्ड 3 महीने 26 दिन में बनकर तैयार हो चुका है :  निर्धारित लक्ष्य से डेढ़ माह पहले। मंगलवार को यहां सेंट्रल लाइटिंग चालू कर दी गई। 26 को उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी व महापौर मालिनी गौड़ इसका लोकार्पण कर ट्रैफिक शुरू करवाएंगे। 

 

प्रोजेक्ट इंचार्ज अनूप गाेयल के मुताबिक अब केवल डामर की परत चढ़ाने और रंगाई-पुताई जैसे काम बचे है, जो दो दिन में हो जाएंगे। ब्रिज का काम 1 अक्टूबर से शुरू हुआ था। इसे 15 मार्च तक पूरा करने का लक्ष्य निगम ने कॉन्ट्रैक्ट कंपनी को दिया था। निगम ने शर्तों में यह भी तय किया था कि काम लेट करने पर पेनल्टी लगाई जाएगी और समय से पहले पूरा करने पर कंपनी को 25 लाख रुपए इनाम दिया जाएगा। साथ ही निगम अफसरों को भी सम्मानित किया जाएगा।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना