मप्र विधानसभा चुनाव / राफेल की जेपीसी जांच हो, मोदी सरकार इस इसके लिए तैयार नही ये दाल में काला होने का सबूत : मनमोहन सिंह



मनमोहन सिंह ने बुधवार को इंदौर में प्रेस कॉन्फ्रेंस की। मनमोहन सिंह ने बुधवार को इंदौर में प्रेस कॉन्फ्रेंस की।
X
मनमोहन सिंह ने बुधवार को इंदौर में प्रेस कॉन्फ्रेंस की।मनमोहन सिंह ने बुधवार को इंदौर में प्रेस कॉन्फ्रेंस की।

कांग्रेस के प्रचार के लिए इंदौर आए पूर्व प्रधानमंत्री ने मोदी सरकार पर साधा निशाना
कहा : हमने मप्र के साथ कोई भेदभाव नहीं किया

Nov 21, 2018, 02:45 PM IST

इंदौर.  पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने बुधवार को राफेल डील पर मोदी सरकार पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार राफेल सौदा में संयुक्त संसदीय समिति (जेपीसी) की जांच के लिए तैयार नहीं है। इसका मतलब है कि दाल में कुछ काला है। कुछ तो गलत हुआ है। उन्होंने कहा, "यूपीए सरकार ने कभी मध्यप्रदेश के साथ भेदभाव नहीं किया।" भाजपा आरोप लगाती रही है कि यूपीए के वक्त मध्यप्रदेश के साथ केंद्र ने भेदभाव किया था। 


मनमोहन सिंह ने इंदौर में कांग्रेस प्रत्याशी के पक्ष में चुनाव प्रचार किया। उन्होंने कहा कि यूपीए सरकार ने मप्र के साथ कोई भेदभाव नहीं किया है, इसके गवाह राज्य के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह खुद हैं। मनमोहन ने किसान आंदोलन, व्यापमं, नोटबंदी, महंगाई और किसानों की समस्या जैसे मुद्दे उठाए।


मनमोहन ने कहा- मोदी सरकार ने कोई भी वादा पूरा नहीं किया

 

  • "मोदी सरकार बताए उन्होंने कितने वादे पूरे किए? किसान कर्ज से मरता जा रहा है, मोदी सरकार ने दो करोड़ लोगों को रोजगार देने का वादा किया था, यह वादा जुमला बनकर रह गया।" 
  • "सीबीआई समेत अन्य शासकीय संस्थाओं पर केंद्र सरकार द्वारा कब्जे करने की कोशिश की जा रही है। मध्यप्रदेश में व्यापमं जैसा महाघोटाला हुआ। इस मामले से जुड़े 50 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई।"
  • "नोटबंदी और जीएसटी ने देश की अर्थव्यवस्था को तबाह कर दिया। नोटबंदी के दौरान लाइन में लगे कई लोगों को जान गंवानी पड़ी। जिन मुद्दों को लेकर नोटबंदी की गई थी वह समस्याएं आज भी मौजूद हैं।"
  • "मोदी सरकार पारदर्शिता लाने और भ्रष्टाचार से लड़ने के वादे पर सत्ता में आई। उसका कार्यकाल समाप्त होने में कुछ ही महीने बचे हैं, लेकिन, हम मोदी सरकार के तहत भ्रष्टाचार को सिर्फ बढ़ते हुए देख रहे हैं।"  
  • "किसानों की दुर्दशा का मुद्दा सबसे बड़ा है। उनको फसलों के उचित दाम नहीं मिलते। किसान कर्ज के नीचे दबते जा रहे हैं जिससे खुदकुशी की वारदातें तेजी से बढ़ रही हैं।" 
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना