--Advertisement--

मध्यप्रदेश / इंदौर-1 से कांग्रेस ने प्रीति का टिकट काटकर संजय को दिया, रो पड़ीं प्रीति



कांग्रेस ने पहले प्रीति काे टिकट दिया था। कांग्रेस ने पहले प्रीति काे टिकट दिया था।
MP Assembly Elections 2018, Indore, Congress, BJP
MP Assembly Elections 2018, Indore, Congress, BJP
MP Assembly Elections 2018, Indore, Congress, BJP
MP Assembly Elections 2018, Indore, Congress, BJP
X
कांग्रेस ने पहले प्रीति काे टिकट दिया था।कांग्रेस ने पहले प्रीति काे टिकट दिया था।
MP Assembly Elections 2018, Indore, Congress, BJP
MP Assembly Elections 2018, Indore, Congress, BJP
MP Assembly Elections 2018, Indore, Congress, BJP
MP Assembly Elections 2018, Indore, Congress, BJP
  • कांग्रेस में बगावत, प्रीति और तनूजा खंडेलवाल ने निर्दलीय नामांकन दाखिल किया
  • नामांकन दाखिल करने के पहले राजबाड़ा पर कांग्रेस और भाजपा कार्यकर्ता आमने-सामने हुए

Dainik Bhaskar

Nov 09, 2018, 06:05 PM IST

इंदौर. कांग्रेस और भाजपा के सभी 9 विधानसभा सीटों के लिए उम्मीदवारों ने शुक्रवार को नामांकन दाखिल कर दिया। टिकट नहीं मिलने से कई बागियों ने निर्दलीय फॉर्म भरा। इसमें सबसे रोचक मोड़ विस-1 में देखने को मिला, जहां कांग्रेस ने पहले प्रीति अग्निहोत्री को उम्मीदवार घोषित किया, बाद में उनका टिकट काटकर संजय शुक्ला को दे दिया। टिकट कटने की जानकारी लगते ही प्रीति की आंखें छलक आईं और उन्हाेंने पार्टी से इस्तीफा देते हुए निर्दलीय मैदान में उतरने का निर्णय लिया।

 

 

शुक्रवार को नामांकन दाखिल करने के पहले विधानसभा - 3 में दोनों दावेदारों ने शक्ति प्रदर्शन किया। भाजपा ने आकाश विजयवर्गीय को इंदौर-3 से अपना उम्मीदवार घोषित किया है। सुबह आकाश अपने सैकड़ों समर्थकों के साथ राजाबड़ा पहुंचे। इस दौरान इंदौर-3 के सबसे महत्वपूर्ण क्षेत्र राजबाड़ा पर कांग्रेस और भाजपा के कार्यकर्ता आमने सामने हो गए। पुलिस ने मामले में हस्तक्षेप करते हुए दोनों को अलग किया।

 

इंदौर-1 में कांग्रेस ने प्रीति गोलू अग्निहोत्री को अपना उम्मीदवार बनाया था। प्रीति को उम्मीदवार बनाए जाने के बाद यहां से दावेदारी कर रहे संजय शुक्ला और कमलेश खंडेलवाल ने बगावत करते हुए निर्दलीय चुनाव लड़ने का ऐलान किया था। प्रीति के विरोध को देखते हुए कांग्रेस ने गुरुवार रात प्रीति का टिकट निरस्त कर संजय शुक्ला को इंदौर-1 से अपना उम्मीदवार घोषित कर दिया। पूरे मामले में खास बात ये है कि 2013 में प्रीति के पति गोलू अग्निहोत्री का भी पार्टी ने इसी प्रकार टिकट काट दिया था। अब उनकी पत्नी के साथ भी पार्टी ने यही किया। 

 

इंदौर-1 से कांग्रेस ने पहले प्रीति अग्निहोत्री को प्रत्याशी बनाया था
  • प्रीति का टिकट काटकर संजय को टिकट देने से गोलू अग्निहोत्री के समर्थक नाराज हो गए। गुरुवार रात गोलू ने निर्दलीय प्रत्याशी के रूप चुनाव लड़ने का एेलान कर सिरपुर क्षेत्र में रैली निकाली। इसी दौरान प्रीति अग्निहोत्री ने अपने सैकड़ों समर्थकों के साथ कांग्रेस की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया।
  • शुक्रवार सुबह प्रीति ने कांग्रेस पर धोखा देने का अारोप लगाते हुए कहा कि वे निर्दलीय मैदान में उतर रही हैं। इसके बाद वे पति के साथ नामांकन दाखिल करने पहुंचीं। इस दौरान परिजनों ने मुंह मीठा करवाकर उन्हें विदा किया। 
  • वहीं इंदौर-1 से कांग्रेस के एक अन्य दावेदार कमलेश खंडेलवाल ने भी बगावती तेवर दिखाते हुए अपनी पत्नी तनूजा को निर्दलीय मैदान में उतारा दिया। खंडेलवाल की पत्नी परिजनाें और कार्यकर्ताओं के साथ नामांकन दाखिल करने पहुंचीं।

 

नामांकन पत्र पेश करते समय इंदौर-1 से कांग्रेस के उम्मीदवार संयज शुक्ला। प्रीति अग्निहोत्री जिनका टिकट कांग्रेस ने वापस ले लिया और निर्दलीय चुनाव लड़ने की घोषणा करने वाले गोलू अग्निहोत्री साथ-साथ।

 

इंदौर-2 में भी बगावत

इंदौर-2 से कांग्रेस ने मोहन सेंगर को अपना उम्मीदवार घोषित किया है। यहां से चिंटू चौकसे भी दावेदार थे। सेंगर को टिकट मिलने से चौकसे नाराज हो गए और उन्होेंने यहां से निर्दलीय चुनाव लड़ने का ऐलान कर दिया। पिछले विधानसभा चुनाव में कांग्रेस से लड़े छोटे यादव ने भी यहां से निर्दलीय चुनाव लड़ने की बात कही है। मोहन सेंगर का मुकाबला यहां भाजपा के रमेश मेंदोला से है।

भाजपा प्रत्याशी रमेश मेंदोला ने नामांकन दाखिल किया।

 

राजबाड़ा पर शक्ति प्रदर्शन

  • इंदौर-3 में जहां कांग्रेस ने अश्विन जोशी को टिकट दिया है, वहीं भाजपा ने यहां कैलाश विजयवर्गीय के बेटे आकाश को उम्मीदवार बनाया है। यह सीट कांग्रेस और भाजपा दोनों दलों के लिए नाक का सवाल बन गई है।
  • यह माना जा रहा है कि अश्विन का मुकाबला आकाश के बजाय उनके पिता कैलाश विजयवर्गीय से ही हो रहा है। वहीं कैलाश ने भी इस सीट को जीतने के लिए विधानसभा-2 के कार्यकर्ताओं की फौज यहां तैनात कर दी है।
  • शुक्रवार को राजबाड़ा पर दोनों दलों के कार्यकर्ता आमने-सामने आ गए। कांग्रेस और भाजपा कार्यकर्ताओं ने एक-दूसरे के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। इससे स्थिति कुछ समय के लिए तनावपूर्ण भी हो गई थी हालांकि पर्याप्त पुलिस बल की तैनाती ने किसी भी प्रकार की अप्रिय स्थिति निर्मित नहीं होने दी।

 

महू में पहले ठाकुर का विरोध, फिर साथ में पहुंचे नामांकन दाखिल करने
महू विधानसभा क्षेत्र में भाजपा उम्मीदवार ऊषा का नाम ऐलान होते ही विरोध शुरू हो गया था। शुक्रवार सुबह नामांकन दाखिल करने के पहले सभी एक मंच पर नजर आए। महू विधानसभा सीट कैलाश विजयवर्गीय की है, जहां से इस बार इंदौर-3 की विधायक ऊषा ठाकुर को भाजपा ने अपना उम्मीदवार घोषित किया है।

  • ऊषा के नाम की घोषणा होतेे ही यहां से स्थानीय भाजपा नेताओं ने ही उनका विरोध प्रारंभ कर दिया। यहां से भाजपा की कविता पाटीदार सहित लगभग 5 नेताओं ने निर्दलीय चुनाव लड़ने की घोषणा कर दी थी। कांग्रेस ने यहां से अंतरसिंह दरबार को मैदान में उतारा है।

 

Bhaskar Whatsapp
Click to listen..