भाजपा कार्यकर्ता की हत्या पर भड़के पूर्व मुख्यमंत्री, कहा - कांग्रेस मप्र को पश्चिम बंगाल बनाने पर तुली

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • सांवेर विधानसभा क्षेत्र के पालिया गांव में कांग्रेस नेता ने भाजपा कार्यकर्ता की गोली मारकर हत्या की 

इंदौर. भाजपा को वोट देने की बात पर कांग्रेस नेता अरुण शर्मा और उनके दो बेटों द्वारा रविवार शाम को बीजेपी कार्यकर्ता नेमीचंद तंवर की गोली मारकर हत्या करने के मामले ने सियासत गरमा दी है। सोमवार को एक ओर जहां परिजनों ने पालिया चौराहे पर चक्काजाम कर दिया। वहीं परिजनों से मिलने पहुंचे पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस घटना को लोकसभा में कांग्रेस की हार की बौखलाहट बताया। शिवराज ने इससे पहले ट्वीट कर प्रदेश सरकार और सांवेर विधायक को चेतावनी दी कि मप्र की धरती को बंगाल नहीं बनाएं। 

 

पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह सोमवार को पीड़ित परिवार से मिलने पहुंचे और अस्पताल में मृतक की घायल मां से मुलाकात की। चौहान ने इस हमले को कांग्रेस कार्यकर्ताओं और नेताओं की बौखलाहट बताया। उन्होंने कहा जब से कांग्रेस की सरकार प्रदेश में आई है प्रदेश में गुंडागर्दी बढ़ गई है। उन्होंने हमले की तुलना बंगाल में हुई हिंसा से करते हुए कहा- मध्यप्रदेश को बंगाल नहीं बने देंगे। शिवराज ने मृतक परिजनों को पांच लाख रुपए देने की घोषणा भी की। इसके पहले सुबह पोस्टमार्टम के बाद परिजनों ने शव को हाईवे पर रखकर पालिया चौराहे पर चक्काजाम कर दिया। करीब एक घंटे तक पुलिस परिजनों को समझाती रही। बड़ी मशक्कत के बाद परिजन अंतिम संस्कार के लिए माने। 
 

 

शिवराज ने यह किया था ट्‌वीट

प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने तंवर की हत्या के बाद ट्वीट कर मुख्यमंत्री कमलनाथ और सांवेर के कांग्रेस विधायक तुलसी सिलावट को चेतावनी दी कि वो हिंसा और हत्याओं को खेल मध्य प्रदेश की धरती पर न शुरू करें। मध्यप्रदेश हमेशा से ही शांति का टापू रहा है। ऐसे में जो भी लोग इस हत्या में शामिल हैं, उन्हें पुलिस तत्काल गिरफ्तार करे। अगर ऐसा नहीं होगा तो भाजपा प्रदेश सरकार और प्रशासन के खिलाफ सड़कों पर उतरेगी। 

 

शिवराज ने लोकसभा में कांग्रेस की हार को निश्चित बताते हुए आरोप लगाया कि इसी बौखलाहट से कांग्रेस प्रदेश को पश्चिम बंगाल बनाने पर तुली है। हार से बौखलाकर कांग्रेस का हिंसा का सहारा ले रही है। इतना ही नहीं, शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि सांवेर के पालिया गांव में हमारे कार्यकर्ता को कांग्रेस नेता ने सिर्फ इसलिए गोली मार दी, क्योंकि उन्होंने भाजपा को वोट दिया था और पार्टी के लिए काम किया था।

 

झूठा आरोप लगा रहे शिवराज
मामले में मप्र सरकार के मंत्री तुलसी सिलावट ने बयान देेते हुए शिवराज सिंह को झूठा करार दिया है। सिलावट ने कहा कि इस घटना से सभी आहत है। शिवराज सिंह जो आरोप लगा रहे हैं वह पूर्णत: बेबुनियाद और झूठा है। किसी भी जांच एजेंसी से मामले की जांच कराई जा सकती है।

 

क्या हुआ था सांवेर में 
हातोद के ग्राम पालिया में भाजपा कार्यकर्ता की रविवार शाम गोली मारकर हत्या कर दी गई। चुनावी दौर में प्रदेश में ये पहली हत्या है। एएसपी मनीष खत्री ने बताया कि ग्राम पालिया में रहने वाले नेमीचंद तंवर का रविवार सुबह इलाके के कांग्रेस नेता अरुण शर्मा से विवाद हुआ था। इस दौरान अरुण ने वाेटिंग खत्म हाेने के बाद देख लेने की धमकी दी थी। शाम को नेमीचंद के चेहरे पर गोली चला दी गई। मृतक की मां पुष्पाबाई और बेटा बसंत भी छर्रे लगने से घायल हो गए। मां पुष्पा ने बताया कि गोली अरुण शर्मा के बेटों ने चलाई है। उपचार के दौरान नेमीचंद ने दम तोड़ दिया। 

 

रंजिश के चलते पहले भी हत्या की धमकी देता था कांग्रेस नेता
मृतक के रिश्तेदार सुभाष तंवर ने बताया कि नेमीचंद पालिया में भाजपा के लिए सक्रियता से चुनाव में जुटा था। उसे लेकर कांग्रेस नेता अरुण शर्मा कई बार धमकियां दे चुका था। इधर, घटना को लेकर पूर्व विधायक राजेश सोनकर ने आरोप लगाए हैं कि आरोपी अरुण, स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट का खास है। सरकार बनने के बाद उसने और उसके बेटाें ने इलाके में जमकर गुंडागर्दी शुरू कर दी थी। वहीं, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह ने इसे राजनैतिक द्वेष में हत्या करार दिया।