• Hindi News
  • Rajya
  • Madhya Pradesh
  • Indore
  • News
  • Rau News mp news babu sought to clear the bill from the organization of congress government and former minister of that same erstwhile bribe lokayukta police caught 15 thousand taka

कांग्रेस की सरकार और उसी के पूर्व मंत्री की संस्था से बाबू ने बिल क्लियर करने के लिए मांगी रिश्वत, लोकायुक्त पुलिस ने15 हजार रुपए लेते पकड़ा

Indore News - सामाजिक न्याय विभाग के मुख्य लिपिक हेमंत मुरमरकर को लोकायुक्त पुलिस ने शनिवार दोपहर 15 हजार रुपए की रिश्वत लेते...

Bhaskar News Network

Mar 17, 2019, 04:31 AM IST
Rau News - mp news babu sought to clear the bill from the organization of congress government and former minister of that same erstwhile bribe lokayukta police caught 15 thousand taka
सामाजिक न्याय विभाग के मुख्य लिपिक हेमंत मुरमरकर को लोकायुक्त पुलिस ने शनिवार दोपहर 15 हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगेहाथ पकड़ लिया। बाबू ने दो दिन पहले मानसिक दिव्यांग बच्चों को शिक्षित करने वाले एनजीओ गांधी बाल भवन से 16 लाख 80 हजार का बिल क्लियर करने के एवज में मांगी थी।

संस्था के निदेशक विनय तिवारी ने इसकी शिकायत लोकायुक्त पुलिस एसपी एसएस सराफ को शुक्रवार को कर दी और फिर शनिवार को जब बाबू ने कलेक्टोरेट में ग्राउंड फ्लोर स्थित सामाजिक न्याय विभाग के दफ्तर में उनसे रिश्वत की राशि लेकर बिल रजिस्टर में रख ली, तभी लोकायुक्त पुलिस डीएसपी दिनेश पटेल ने अंदर कैबिन में जाकर उसे रंगेहाथ पकड़ लिया। जब बाबू के हाथ केमिकल से धुलवाए तो वह रंगीन हो गए। गांधी बाल भवन, महात्मा गांधी संस्था के अधीन काम करती है, जिसके अध्यक्ष कांग्रेस सरकार में मंत्री रह चुके वरिष्ठ नेता महेश जोशी हैं। प्रशासन ने लोकायुक्त की कार्रवाई के बाद मुरमरकर को सस्पेंड कर दिया। इसके पहले साल 2014 में तत्कालीन कलेक्टर आकाश त्रिपाठी ने भी मुरमरकर को सस्पेंड किया था, बाद में वह बहाल हो गया।

आपसे से तो इतना ही मांग रहा हूं, कोई और होता तो ज्यादा मांगता

तिवारी के मुताबिक बाबू मुरमरकर संस्था के हर काम के लिए रिश्वत मांगता था। यह रिश्वत वह हमारे अकाउंटेंट से मांगता था। संस्था की शिक्षिकाओं का वेतन शासन से आता है। तीन शिक्षिकाओं का 2016 से 2018 तक का वेतन 16.80 लाख रुपए हाल ही में स्वीकृत होकर आया था। 2 मार्च से ही बाबू फाइल दबाकर बैठ गया और अकाउंटेंट से राशि मांगने लगा। मैंने पहले फोन पर बात की और फिर शुक्रवार सुबह कलेक्टोरेट में उससे मिला, तो उसने कहा कि मैं तो आप से केवल 15 हजार ही मांग रहा हूं और कोई होता तो इससे कहीं ज्यादा मांगता। आप मेरा ध्यान ही नहीं रखते हो। उसे फंसाने के लिए राशि देना मान लिया और लोकायुक्त को शिकायत कर दी। शनिवार दोपहर करीब पौने 12 बजे वहां पहुंचा, तभी लोकायुक्त पुलिस ने पकड़ लिया।

X
Rau News - mp news babu sought to clear the bill from the organization of congress government and former minister of that same erstwhile bribe lokayukta police caught 15 thousand taka
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना