कार्रवाई / गुंडे मुख्तियार का साथी भी गिरफ्तार, नासिक की एक होटल में छिपकर काट रहा था फरारी



mp news criminal mukhtiyar associate arrested from nashik hotel
X
mp news criminal mukhtiyar associate arrested from nashik hotel

  • गुंडे शेख मुख्तियार ने झूठी गवाही नहीं देने पर 17 वर्षीय बालक का मुंह टॉयलेट सीट में डालकर उसे बुरी तरह पीटा था 
  • गुंडे मुख्तियार के अवैध कामों को नजरअंदाज करने और उसे संरक्षण देने के मामले में सीएसपी लाइन अटैच

Dainik Bhaskar

Aug 14, 2019, 03:35 PM IST

इंदौर. 17 वर्षीय बालक का मुंह टॉयलेट सीट में डालने और उसे बुरी तरह पीटने वाले गुंडे शेख मुख्तियार के साथ प्लाॅट पर कब्जा करने वाले उसके एक साथी को भी विजयनगर पुलिस ने गिफ्तार कर लिया है। थाना प्रभारी तहजीब काजी के अनुसार गिरफ्त में आया आरोपी पंकज खंडेवाल बिल्डर पीयूष गांधी का भी साथी है। उसने पिछले दिनों एमआईजी थाना क्षेत्र में एक महिला की चाकू मार कर हत्या कर दी थी। उस मामले में भी पुलिस ने इनाम घोषित कर उसे तलाश रही थी। आरोपी खुद को न्यूज चैनल का रिपोर्टर बताकर अधिकारियों को भी धमकाता था, उसने क्षेत्र के कई प्लाटों पर भी अवैध रूप से कब्जा जमा रखा था। आरोपी से पूछताछ कर जा रही है।

 

गुंडे मुख्तियार को शह देने के सीएसपी पीएचक्यू अटैच 
उधर, गुंडे मुख्तियार के अवैध कामों को नजरअंदाज करने और उसे संरक्षण देने के मामले में सीएसपी पंकज दीक्षित को पुलिस मुख्यालय अटैच कर दिया गया है। मुख्तियार की कॉल डिटेल और उसकी गाड़ी में सीएसपी के घूमने जैसी बातें सामने आने के बाद पुलिस ने जांच रिपोर्ट भोपाल भेजी थी, जिस पर यह एक्शन लिया गया। बीते कई सालों में यह संभवत: पहला मामला है, जिसमें किसी गुंडे से सांठगांठ रखने पर सीएसपी स्तर के अफसर पर कार्रवाई की गई हो। इसी से जुड़े मामले में कुछ दिन पहले एसएसपी रुचिवर्धन मिश्र ने विजय नगर थाने के एसआई प्रदीप गोलिया को लाइन अटैच किया था। 

 

थाने में कुछ और पुलिसकर्मियों की भी मुख्तियार से दोस्ती की बात सामने आई है। अफसरों का कहना है कि जांच के बाद उन पर भी कार्रवाई होगी। पूरे घटनाक्रम में पुलिस के हाथ इस सांठगांठ के सुराग दो साल पहले जगजीवनराम नगर में ओमप्रकाश कुशवाह की खुदकुशी और हाल ही में उसकी पत्नी राधाबाई की हत्या के मामले से लगे। एसएसपी मिश्र ने बताया कि कुशवाह की आत्महत्या के केस में जांच के दौरान पुलिस को सुसाइड नोट मिला था, जिसमें उन्होंने लिखा था कि वे आरोपी पंकज खंडेलवाल, पीयूष गांधी और महेश नामक व्यक्ति की प्रताड़ना से तंग आकर जान दे रहे हैं। इस केस में एमआईजी थाने में तीनों आरोपियों के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने का केस दर्ज हुआ था। 

 

तब थाने के एसआई गोलिया ने पंकज खंडेलवाल को केस से बाहर करने के लिए सीएसपी दीक्षित के साथ मिलकर दबाव बनाया था। यही नहीं, उसे बचाने के लिए एडीपीओ से सलाह लेकर उसकी भूमिका को शून्य बताने का प्रयास किया था। इस लापरवाही के अलावा हाल ही में पकड़ाए गुंडे शेख मुख्तियार को संरक्षण देने और उसके अवैध कामों में मदद करने के आरोप लगने व कुछ तथ्यों को जांच में सही पाए जाने पर ये एक्शन लिया है।

 

सीएसपी और एसआई की लापरवाही से चली गई महिला की जान 
पुलिस जांच में यह बात सामने आई कि ओमप्रकाश कुशवाह को पंकज, पीयूष और महेश मकान खाली करने के लिए धमका रहे थे। ओमप्रकाश की मौत के बाद उसकी पत्नी को भी गुंडों ने कई बार धमकाया, लेकिन एमआईजी पुलिस ने गुंडों का साथ देकर महिला की शिकायत को नजरअंदाज किया। बीती 26 जुलाई को ओमप्रकाश की पत्नी राधाबाई की गुंडे सुमेर पंडित ने चाकू मारकर हत्या कर दी। मामले में पुलिस ने पंकज, पीयूष और मोहन को भी आरोपी बनाया। इसमें सुमेर को तो पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया, पर बाकी फरार हो गए थे। 

 

शिर्डी से पीछा किया, यहां पीछा कर पकड़ा पंकज को 
बदमाश पंकज खंडेलवाल, गुंडे मुख्तियार का साथी है। दोनों ने राजनीतिक संरक्षण में जमीन की जालसाजी के कई खेल किए। विजय नगर थाने में दोनों के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज है। पंकज इस केस में भी फरार था। टीआई तहजीब काजी ने बताया कि पंकज की तलाश में टीम शिर्डी गई थी। ये दो दिन नासिक में एक होटल में छुपा रहा। वहां पुलिस पहुंची तो भाग निकला। मंगलवार को कुछ नेताओं की मदद से कोर्ट में सरेंडर करने की फिराक में था। उसके पहले ही पुलिस ने पीछा कर पकड़ लिया। अब पंकज से पुलिस मुख्तियार से उसके संबंधों और कुशवाह की हत्या के मामले में पूछताछ कर रही है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना