अनंत चतुर्दशी / रिमझिम बारिश में प्रारंभ हुआ झिलमिल झांकियों का कारवां, कायम रही 93 साल की परम्परा



mp news indore anant chaturthi parade to showcase progress in indore
mp news indore anant chaturthi parade to showcase progress in indore
mp news indore anant chaturthi parade to showcase progress in indore
mp news indore anant chaturthi parade to showcase progress in indore
mp news indore anant chaturthi parade to showcase progress in indore
mp news indore anant chaturthi parade to showcase progress in indore
X
mp news indore anant chaturthi parade to showcase progress in indore
mp news indore anant chaturthi parade to showcase progress in indore
mp news indore anant chaturthi parade to showcase progress in indore
mp news indore anant chaturthi parade to showcase progress in indore
mp news indore anant chaturthi parade to showcase progress in indore
mp news indore anant chaturthi parade to showcase progress in indore

  • कलेक्टर और एसएसपी ने खजराना गणेश मंदिर की झांकी का पूजन कर प्रारंभ किया चल समारोह
  • झांकियों में इंदौर का विकास, स्वच्छता, मेट्रो ट्रेन भी शामिल
  • झांकियां देखने के लिए उमड़ी लाखों लोगों की भीड़

Dainik Bhaskar

Sep 12, 2019, 09:09 PM IST

इंदौर. अनंत चतुर्दशी के अवसर पर निकलने वाली झांकियों की 93 साल पुरानी परंपरा कायम रही। गुरुवार शाम रिमझिम बारिश के मध्य झिलमिल झांकियों का कारवां प्रारंभ हुआ। इस बार चल समारोह में 28 झांकियां शामिल हैं जिन्हें देखने के लिए लाखों लोगों की भीड़ उमड़ी है।

 

चल समारोह में सबसे पहले खजराना गणेश मंदिर की झांकी है। शाम 6 बजे इंदौर कलेक्टर और एसएसपी ने झांकी का पूजन कर चल समारोह को प्रारंभ किया। खजराना गणेश मंदिर के बाद आईडीए, भंडारी मिल, इंदौर नगर निगम, कल्याण मिल, साईंनाथ सेवा समिति, कनकेश्वरी इन्फोटेक, नंदा नगर सहकारी समिति, स्पूतनिक ट्यूटोरियल एकेडमी, मालवा मिल, स्वदेशी मिल, राजकुमार मिल, हुकुमचंद मिल, जैन समाज सामाजिक संगठन, जय हरसिद्धि मां सेवा समिति, मुस्कान ग्रुप और श्री शास्त्री कॉर्नर नवयुवक मंडल की झांकियां शामिल है।

 

झांकियों का कारवां

 

लगातार हो रही बारिश से था संशय

93 साल पुरानी इस परंपरा में कई बार ऐसा हुआ कि भारी बारिश हुई, लेकिन झांकियों का कारवां नहीं रुका। गुरुवार को भी लगातार हो रही बारिश के चलते झांकियों के निकलने पर संशय था, लेकिन परंपरा कायम रही और झांकियों का कारवां प्रारंभ हुआ। 

 

हालांकि रात 12 से 2 बजे के बीच तेज बारिश का का 96% अनुमान है, लेकिन लोगों का कहना है कि पानी की बूंदें झांकियों की राह में बाधा डालने नहीं, गणेशजी के पैर पखारने आती हैं। यह तो शुभ होता है। बीते 11 साल में 2008, 2009, 2011, 2012, 2014, 2015 और 2018 में अनंत चतुर्दशी पर अच्छा पानी बरसा, फिर भी झांकियां निकलीं और लोग उत्साह के साथ मौजूद रहे।

 

 

राजकुमार मिल की झांकी

 

डीआरपी लाइन से प्रारंभ हुआ चल समारोह चिकमंगलूर चौराहा, जेल रोड, एमजी रोड, कृष्णपुरा छत्री, नंदलालपुरा, जवाहर मार्ग, गुरुद्वारा चौराहा, बंबई बाजार, नृसिंह बाजार चौराहा, सितलामाता बाजार, गोराकुंड चौराहा, खजूरी बाजार, राजबाड़ा, कृष्णपुरा पुल होते हुए समाप्त होगा।  

 

ऐसा है झांकियों का कारवां 

  • हुकुमचंद मिल : यहां दो झांकियों का निर्माण किया जा रहा है। पहली झांकी महाभारत पर आधारित है, जिसमें श्रीकृष्ण अर्जुन को गीता का उपदेश दे रहे हैं। इसी झांकी में 25 फीट ऊंची भगवान विष्णु के विराट अवतार को दर्शाती मूर्ति रहेगी। समिति के नरेंद्र श्रीवंश का कहना है कि सौ वर्षों के इतिहास में पहली बार यह प्रयोग किया है, यह स्वचलित होगी। दूसरी झांकी में विष्णु भगवान शेषशैया पर विराजमान नजर आएंगे।
  • मालवा मिल : यहां तीन झांकियों का निर्माण किया जा रहा है। इसमें श्रीकृष्ण जन्मोत्सव, ताड़का वध और सबका मालिक एक शामिल है। गणेशोत्सव समिति के अध्यक्ष कैलाश कुशवाह ने बताया कि तीनों झांकियां धार्मिक विषयों के अलग-अलग प्रसंगों पर आधारित हैं।
  • राजकुमार मिल : यहां पर दो झांकियों का निर्माण किया गया है। जिसमें एक दशावतार और दूसरी भगवान श्रीकृष्ण की लीला को दर्शाएगी। दि राजकुमार मिल सार्वजनिक गणेशोत्सव समिति के कैलाश सिंह ठाकुर ने बताया भगवान विष्णु के दस अवतार मत्स्य, कच्छप, वराह, नृसिंह, वामन, राम-कृष्ण, परशुराम, बुद्ध और कल्कि दिखाई देंगे।
  • कल्याण मिल : यहां दो झांकियां बनाई जा रही हैं। एक में मेट्रो ट्रेन दिखाई है, जिसका सपना पूरा होता दिख रहा है। कल्याण मिल गणेश उत्सव समिति के अध्यक्ष हरनामसिंह धारीवाल ने बताया झांकी में 10 हजार से ज्यादा बल्बों का इस्तेमाल हुआ है।
  • होप टेक्सटाइल्स : यहां भी तीन झांकियों का निर्माण किया है। इसमें महात्मा गांधी की 150वीं जयंती, शिव तांडव व गणेश के चार युगों में चार अवतार को दर्शाया है।
  • स्वदेशी मिल : यहां दो झांकियों का निर्माण किया जा रहा है। एक में महाकाल की भस्म आरती और दूसरी में काल भैरव के अवतार नजर आएंगे। मिल का यह 89 वां वर्ष है। इसमें करीब तीन हजार से ज्यादा बल्बों का इस्तेमाल झांकियों को रोशन करने के लिए किया है।
  • आईडीए : तीन झांकियों का निर्माण किया गया है। पहली झांकी में पीपल्याहाना फ्लायओवर दिखेगा, जबकि दूसरी झांकी में श्रीराम का केवट से मिलन और फिर केवट का उन्हें नदी पार कराते दृश्य दिखेगा। तीसरी झांकी में कार्तिकेय पृथ्वी का चक्कर लगाते और उसी समय भगवान गणेश माता-पिता की प्रदक्षिणा करते नजर आएंगे। इसमें बुद्धि की श्रेष्ठता को दर्शाया गया है।
  • नगर निगम : यहां भी तीन झांकियां बनी हैं। पहली झांकी इंदौर की स्वच्छता में हैट्रिक के साथ स्वच्छ इंदौर, स्वस्थ इंदौर का संदेश देती नजर आएगी। दूसरी झांकी में राधाकृष्ण एवं गोपियों को झूला झूलते दिखाया गया है। यह स्वचलित है। तीसरी झांकी में गणेश उत्सव मनाते और आरती में झूमते गाते भक्तगण दिखेंगे।
  • नंदानगर सहकारी संस्था : संस्था ने दो झांकियां बनाई है। एक झांकी महिषासुर वध पर, जबकि दूसरी केंद्र सरकार की योजनाओं पर आधारित है। इसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जल संरक्षण पर संदेश देते दिख रहे हैं। संस्था अध्यक्ष कीर्ति जैन ने बताया मिशन चंद्रयान भी झांकियों में शामिल रहेगा।

 

ऐसी है सुरक्षा व्यवस्था
तीन हजार जवान तैनात, चार ड्रोन कैमरे, 14 वॉच टावर से नजर रखी जा रही है। प्रशासन ने दो दर्जन से ज्यादा कैमरे लगाए हैं। वहीं, इस रूट पर घर-दुकान और व्यावसायिक संस्थानों में लगे कैमरों को चेक किया जा चुका है। वहीं, बंबई बाजार और कृष्णपुरा छत्री पर अस्थायी कंट्रोल रूम बनाए गए है। सीसीटीवी कैमरों के कंट्रोल के लिए डीआरपी लाइन पर भी कंट्रोल रूम है। फायर ब्रिगेड की सात गाड़ियां भी तैनात। रिजर्व बल की 200 से ज्यादा महिला सिपाहियों को संवेदनशील इलाकों में पाॅइंट पर तैनात किया गया है। 14 जगह वॉच टावर बनाए हैं। इन टॉवरों से पुलिस वीडियोग्राफी भी करवा रही है। नगर सुरक्षा समितियों के चार हजार से ज्यादा सदस्य भी ड्यूटी दे रहे है।
 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना