मप्र / विपक्ष द्वारा भाजपा नेताओं पर "मारक शक्ति" के प्रयोग संबंधी प्रज्ञा का बयान मूर्खतापूर्ण और आपत्तिजनक - ओझा

mp news indore pragya thakur alleged opposition for attacking bjp leaders
X
mp news indore pragya thakur alleged opposition for attacking bjp leaders

  • ओझा ने कहा - शहीद करकरे के अपमान और गोडसे के गुणगान के बयानों की अगली कड़ी है प्रज्ञा का बयान
  • कोई कठोर कार्यवाही न होने से साफ है कि प्रज्ञा को मिला हुआ है भाजपा के शीर्ष नेतृत्व का समर्थन और संरक्षण 

दैनिक भास्कर

Aug 26, 2019, 04:18 PM IST

इंदौर. विपक्ष द्वारा भाजपा नेताओं पर 'मारक शक्ति' का प्रयोग किए जाने वाले बयान को लेकर भोपाल सांसद प्रज्ञा ठाकुर का विरोध हो रहा है। मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी मीडिया विभाग की अध्यक्ष शोभा ओझा ने इस बायन को आपत्तिजनक, निंदनीय और मूर्खतापूर्ण बताया है, वहीं कम्प्यूटर बाबा ने प्रज्ञा के मानसिक संतुलन पर सवाल उठाएं हैं। ओझा ने भाजपा के शीर्ष नेतृत्व पर प्रज्ञा को समर्थन और संरक्षण देने का आरोप लगाया है।                                                                                    

ओझा ने कहा कि भोपाल में पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली और प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर की श्रद्धांजलि सभा में सांसद प्रज्ञा ठाकुर द्वारा यह कहा जाना नितांत शरारत और मूर्खतापूर्ण है कि "मैं जब चुनाव लड़ रही थी, तब एक महाराज जी आए थे, उन्होंने कहा था कि ये बहुत बुरा समय चल रहा है। विपक्ष एक मारक शक्ति का प्रयोग आपकी पार्टी और उसके नेताओं के लिए कर रहा है। ऐसे में आप सावधान रहें, इसके बाद मैं यह बात भूल गई थी, लेकिन अब जब मैं यह देखती हूं कि हमारी पार्टी के नेता यूं एक के बाद एक जा रहे हैं तो मुझे उन महाराज जी की बात याद आ रही है। भले आप विश्वास करें या ना करें, पर यही सत्य है और यह हो रहा है।     
                                                                                      
ओझा ने कहा कि आज के आधुनिक युग में भी एक सांसद द्वारा की जाने वाली ऐसी संकीर्ण और दकियानूसी बातों के बाद भी यदि भाजपा उन पर कोई कार्यवाही नहीं करती है तो यह प्रज्ञा द्वारा की जा रही आधारहीन बयानबाजी और उनकी घृणित व आपत्तिजनक राजनीति को, भाजपा का पूर्ण समर्थन ही माना जाएगा। उन्हांेने कहा कि पहले शहीद करकरे का अपमान, फिर गोडसे के गुणगान के बाद, प्रज्ञा के उपरोक्त बयान से उनका बौद्धिक स्तर और अंधविश्वासी व घृणित मानसिकता पूरी तरह से उजागर हो गई है। इस सब के बावजूद यदि अब भी भाजपा का शीर्ष नेतृत्व प्रज्ञा पर कोई कार्यवाही नहीं करता है तो देश के सामने यह स्पष्ट हो जाएगा कि पूरी भाजपा ही गोडसेवादी, शहीदों की अपमानकर्ता और प्रज्ञा के घृणित और आपत्तिजनक विचारों की समर्थक होने के साथ ही उनकी संरक्षक भी है। 

 

वहीं, प्रज्ञा के बयान की निंदा करते हुए कम्प्यूटर बाबा ने कहा - जिस तरह से वे बयान दे रही हैं, उससे लगता है उन्हांेने मानसिक संतुलन खो दिया है। एक तरफ प्रधानममंत्री नरेंद्र मोदी अंतरिक्ष में ले जाने की बात कर रहे हैं, वही दूसरी ओर उनकी सांसद इस तरह की बात कह रही है। इसको लेकर आने वाले समय में संत समाज प्रधानमंत्री मोदी से मुलाकात कर सांसद प्रज्ञा ठाकुर को पार्टी से निकालने की भी मांग करेगा। उनके बयान की संत समाज निंदा करता है।
 

 

 

Brief News - DBApp

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना