• Hindi News
  • National
  • Indore News Mp News The 80s 90s Singles And Duets Performed Melodious Songs

80-90 के दशक के एकल और युगल मधुर गीतों की प्रस्तुति दी

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
80 और 90 के दशक के चुनिंदा गीतों को मरासिम कार्यक्रम में प्रस्तुत किया गया। शनिवार को जाल सभागृह में किए गए इस कार्यक्रम में \\\"दिल हूम हूम करे\\\', \\\"यारा सीली सीली\\\", \\\"अब तेरे बिन\\\' जैसे एकल और \\\"तू मेरे सामने\\\', \\\"ऐ अजनबी तू भी कहीं\\\' और \\\"तू ही रे\\\' जैसे युगल गीतों को गाया गया।

दिल हूम हूम करे और यारा सीली सीली गीत सुनाए

कार्यक्रम की शुरुआत हरि पालीवाल ने \\\"वो कहते हैं हमसे\\\' गीत से की और इसके बाद मधुरता भरे गीतों का सिलसिला शुरू हुआ। \\\"यारा सीली सीली\\\' गीत को अमृता विक्रमसिंह ने प्रस्तुत किया तो मानसी खानवलकर ने \\\"दिल हूम हूम करे, घबराए\\\' को गाया। आशीष जैन ने \\\"अब तेरे बिन\\\" और दीपक गोडवानी ने \\\"सोचेंगे तुम्हें प्यार करें के नहीं\\\' गीत प्रस्तुत किया। युगल गीतों में हरविंदर सिंह ने अमृता विक्रमसिंह के साथ \\\"तू मेरे सामने\\\' गीत गाया तो सुमित्रा शिधये ने दीपक गोडवानी के साथ \\\"नज़र के सामने जिगर के पार\\\' गीत गाया। नीलेश माहेश्वरी ने मानसी खानवलकर के साथ \\\"ऐ अजनबी तू भी कहीं\\\' गीत प्रस्तुत किया तो आशीष जैन ने ममता रघुवंशी के साथ \\\"तू ही रे तू ही रे\\\' गीत गाया।

अमृता विक्रम सिंह के साथ दीपक गोडवानी ने \\\"चेहरा क्या देखते हो दिल में उतर कर देखो ना गीत\\\' गाया। हरविंदर सिंह ने ममता रघुवंशी के साथ \\\"ऐ मेरे हमसफर\\\' और हरि पालीवाल ने दीपक गोडवानी के साथ \\\"सो गया ये जहां\\\' गीत की प्रस्त्ुति दी। तबले पर हेमेंद्र महावर, आक्टोपैड पर इंगित भावसार, ढोलक पर सुधीर कोरान्ने, बेस गिटार पर अभय चिखलीकर, गिटार पर योगेश्वर कान्हेरे ने संगत की। संगीत संयोजन निखिल खानवलकर और अभिजीत गौड़ का था। संचालन अमृता सिंह ने किया।

जाल सभागृह में कलाकारों ने गीतों की प्रस्तुति दी।

खबरें और भी हैं...