• Hindi News
  • Mp
  • Indore
  • Mumbai's builder gave the phone number of Baheti and said I will give you such a task that you will become a big man

मप्र / मुंबई के बिल्डर ने बाहेती का फोन नंबर देकर कहा- ऐसा काम दिलाऊंगा कि तू बड़ा आदमी बन जाएगा



Mumbai's builder gave the phone number of Baheti and said - I will give you such a task that you will become a big man
X
Mumbai's builder gave the phone number of Baheti and said - I will give you such a task that you will become a big man

  • बड़ा ‘सेटलमेंट’ टैक्स वसूलना चाह रहा था, गिरफ्तार हुआ

Dainik Bhaskar

Jul 12, 2019, 05:17 AM IST

इंदौर . बारह साल पहले बेची एसटीएल कंपनी के लेनदेन में 35 करोड़ रुपए के भुगतान काे लेकर मुंबई का गुंडा इंदौर के उद्योगपति डॉ. रमेश बाहेती को फोन लगाकर धमका रहा था। वह छोटा राजन गैंग के कुख्यात बदमाश प्रथमेश परब को अपना गुरु मानकर मुंबई का बड़ा डॉन बनना चाहता था। आरोपी ने कबूला कि उसे बाहेती की कंपनी खरीदने वाले अग्रवाल ने उनका नंबर उपलब्ध करवाया था। एसएसपी रुचिवर्धन मिश्र ने बताया कि पकड़ाया बदमाश सूरज पिता समर सेन दुबे निवासी कल्याण है।

 

आरोपी ने कबूला कि वह पहले कभी बिल्डर भानुदास देसाई की साइट पर काम संभालता था। इस दौरान उसकी दोस्ती मुंबई के कई बिल्डरों से हुई और उनसे अंडरवर्ल्ड के लोगों तक पहुंचा। आरोपी ने कबूला कि उसकी दोस्ती बिल्डर चिराग जोशी से थी। चिराग ने ही कहा था कि ऐसा काम दिलाऊंगा कि तू बड़ा आदमी बन जाएगा। कुछ दिन बाद चिराग ने उसे एसटीएल कंपनी का नंबर दिया और कहा कि इनका कोई सेटलमेंट है। 


350 शेयर का मामला है, वह करवा दोगे तो तुम्हे एक करोड़ रुपए तक मिल जाएंगे। आरोपी ने एसटीएल कंपनी में बात की तो वहां से उसके मालिक प्रशांत अग्रवाल से संपर्क हुआ। हालांकि प्रशांत ने उसे सीधे कोई ऑफर नहीं दिया सब बात चिराग के मार्फत हुई है। प्रशांत ने चिराग को इंदौर के उद्योगपति बाहेती की पूरी डिटेल नंबर भेजी। कहा कि इसे धमकाओ।

 

इसके बाद सूरज ने बाहेती और उनकी बेटियों को धमकाना शुरू कर दिया था। वह प्रथमेश परब के नाम से ही धमकाता था। जब बाहेती ने इसकी शिकायत की तो क्राइम ब्रांच की टीम वहां पहुंची और आरोपी को कल्याण के पास से दबोच लिया। पुलिस अब कंपनी खरीदने वाले, सेटलमेंट करवाने के लिए मध्यस्थता करवाने वाले और उद्योगपति बाहेती से इसकी तस्दीक करेगी। क्राइम ब्रांच एएसपी अमरेंद्र सिंह के अनुसार बाहेती ने अपनी एसटीएल कंपनी 2007 में बेची थी। 2010 में पूरा लेनदेन हो चुका था, लेकिन खरीदार प्रशांत अग्रवाल उस दौरान के बकाया भुगतान की मांग को लेकर सुपारी दे रहा था। अब प्रशांत, चिराग व अन्य लोगों को इंदौर लाकर पूछताछ की जाएगी।

 

मुंबई के कारपोरेटर पर कर चुका है हमला : आरोपी 12वीं तक पढ़ा हुआ है। वह मूल रूप से जोनपुर का रहने वाला है। पिता फर्नीचर की दुकान पर काम करते हैं। घर में मां और बहन भी है। वह गर्लफ्रेंड के साथ डांस, बार डांसरों और दोस्तों के साथ पार्टियां करने पर ज्यादा पैसा उड़ाता था। वह मुंबई में अब तक 4 लोगों से गुंडा टैक्स वसूल चुका था। उस पर तीन अपराध दर्ज हैं। उसने एक मामले में सेटलमेंट नहीं करने पर मुंबई के कारपोरेटर प्रमोद भाई पर चाकू से हमला भी कर दिया था। वहीं डोम्बीवेली में पैसों के विवाद में किरण पाटिल को भी चाकू मारा था।

COMMENT