• Hindi News
  • Mp
  • Indore
  • Out of 11 thousand polling stations in the state, 2000 polling stations are sensitive

लोकसभा चुनाव / प्रदेश के 11 हजार मतदान केंद्रों में से 2000 संवेदनशील, अतिरिक्त सुरक्षा व्यवस्था करेंगे - मुख्य निर्वाचन अधिकारी



Out of 11 thousand polling stations in the state, 2000 polling stations are sensitive
X
Out of 11 thousand polling stations in the state, 2000 polling stations are sensitive

  • लोकसभा चुनाव को लेकर मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने इंदौर संभाग के संबंध में रिव्यू मीटिंग की

Dainik Bhaskar

Apr 17, 2019, 02:49 PM IST

इंदौर. लोकसभा चुनाव को लेकर बुधवार को संभागायुक्त कार्यालय में मुख्य निर्वाचन अधिकारी वीएल कांता राव ने इंदौर संभाग के कलेक्टर और पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक कर चुनावी जायजा लिया। इस दौरान उन्होंने इंदौर जिले की सभी विधानसभा सीटों पर चर्चा कर संवेदनसील जगहों पर ज्यादा बल देने की बात कही। राव ने इस दौरान मप्र की 29 लोकसभा सीटों में से इंदौर और छिंदवाड़ा सीट को व्यय की दृष्टि से ज्यादा प्रभावी माना है। राव ने 11 हजार मतदान केंद्रों में से 2000 मतदान केंद्रों को संवेदनशील बताते हुए पर्याप्त केंद्रीय सुरक्षा बल तैनात करने की बात कही।

 

राव ने मीडिया से चर्चा में कहा - इस चुनाव में सभी वाहनों में ट्रेकिंग सिस्टम लगाए जाएंगे। चुनाव के दौरान करीब 20 हजार वाहनों का प्रयोग किया जाएगा। प्रदेश में अब तक 30 करोड़ रुपए की शराब और केश पकड़ा जा चुका है। 29 लोकसभा सीटों में से छिंदवाड़ा और इंदौर व्यय की दृष्टि से सबसे ज्यादा आंके जा रहे हैं। दोनों हीं सीटों को व्यय की दृष्टि से संवेदनशील माना गया है।

 

राव ने बताया कि इंदौर सभांग के सभी जिलों का रिव्यू किया गया। संभाग में करीब 90 लाख वोटर हैं। बैठक में सभी जिले के पदाधिकारी मौजूद रहे। यहां 19 मई को होने वाले मतदान में 11 हजार मतदान केंद्रों में से 2000 मतदान केंद्र संवेदनशील हैं, जहां पर्याप्त केंद्रीय सुरक्षा बल तैनात किया जाएगा। पिछले लोकसभा चुनाव में लगे सुरक्षा बल से इस बार ज्यादा बल सभी जिलों को मिल रहा है। यहां मौजूद सभी नाकों पर 24 घंटे निगरानी चल रही है। सभी राज्यों में चुनाव की तारीख अलग होने से बॉर्डर वालों जिलों से हमारे पदाधिकारी दूसरे राज्यों के पदाधिकारियों के साथ संपर्क हैं। इंदौर जिले के अलावा 30 ऐसे विधानसभा क्षेत्र हैं जो संवेदनशील हैं, वहीं 200 ऐसे छोटे-छोटे क्षेत्र हैं जहां हम और अधिक बल लगाएंगे। 

 

राव ने कहा - मप्र में 7 तारीख को जो आयकर विभाग की जो कार्रवाई हुई थी, उस बारे में हमें देर से सूचना मिली थी। थी। छापे की कार्रवाई दिल्ली के दल ने की थी, दो दिन बाद उन्होंने हमें एक रिपोर्ट दी थी, कि उन्हें छापे के दौरान क्या-क्या मिला। दल ने सीधे चुनाव आयोग को दिल्ली में अधिकारियों को जानकारी दे दी गई थी। हमने इनमक टैक्स विभाग को निर्देश दिए हैं कि अब जहां भी कार्रवाई करें, उसकी सूचना पहले दी जाए। 
 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना