• Hindi News
  • Mp
  • Indore
  • Police arrested accused of killing Vishwa Hindu Parishad leader in mandsour, indore

अपराध / विहिप विभाग सहमंत्री की हत्या करने वाले तीनों आरोपियों को पुलिस ने इंदौर से पकड़ा



Police arrested accused of killing Vishwa Hindu Parishad leader in mandsour, indore
X
Police arrested accused of killing Vishwa Hindu Parishad leader in mandsour, indore

  • रैकी करने वाला भी गिरफ्तार, 6 लोगों के खिलाफ केस दर्ज
  • मछली, केबल, प्राॅपर्टी व संदीप तेल हत्याकांड के लिंक तलाश रही पुलिस

Dainik Bhaskar

Oct 11, 2019, 01:36 PM IST

मंदसौर. विहिप विभाग सहमंत्री, एसआरएम केबल संचालक एवं वकील युवराजसिंह चौहान की हत्या में व्यापारिक स्पर्धा सामने आई है। हालांकि विवाद किस व्यापार से जुड़ा है, इसका खुलासा नहीं हुआ है। वारदात में शामिल एक आरोपी गिरफ्तार किया जा चुका है। बताया जाता है गोलीकांड की स्क्रिप्ट दोनों पक्षों ने 15 दिन पहले ही लिख दी थी। यदि युवराज पक्ष से गोली चलाई जाती तो दो लोगों की हत्या होना थी लेकिन गोली दीपक की ओर से चली। इसमें युवराज की मौत हो गई। इधर, गुरुवार रात को पुलिस ने हत्या में शामिल तीनों मुख्य आरोपियों को इंदौर से हिरासत में लिया है।


एसपी हितेश चौधरी ने बताया युवराज हत्याकांड में अंकित पिता अशोक तंवर, नागेश उर्फ लाला पिता दिनेश, फैजान पिता मुजफ्फर के नाम सामने आए हैं। जांच में दीपक तंवर का युवराज से विवाद सामने आने पर उसके खिलाफ केस दर्ज किया है। एसपी के अनुसार मामले में मछली व्यापार, केबल व्यापार, प्राॅपर्टी विवाद व संदीप तेल हत्याकांड को लेकर भी जांच की जा रही है।


तीनों आरोपी दीपक की बहन के घर से धराए
आरोपियों की तलाश को लेकर पुलिस ने उदयपुर व मप्र के क्षेत्रों में दबिश दी। जानकारी के अनुसार उदयपुर से तो पुलिस को कुछ भी हाथ नहीं लगा है लेकिन इंदौर से हत्या में शामिल फैजान उर्फ छोटू, अंकित तंवर व नागेश उर्फ लाला को हिरासत में लिया है। बताया जाता है तीनों आरोपी दीपक की इंदौर निवासी बहन के घर पहुंच गए थे। जहां पहले से मौजूद पुलिस ने उन्हें गुरुवार रात हिरासत में लिया, हालांकि इसकी पुष्टि नहीं की है।


दीपक, फैजान और अंकित पर दर्ज हैं आपराधिक मामले
दूसरे पक्ष के दीपक, फैजान व अंकित के खिलाफ आपराधिक प्रकरण दर्ज हैं। इसमें दीपक के खिलाफ हत्या, आर्म्स एक्ट व मारपीट, फैजान के खिलाफ पांच व अंकित के खिलाफ तीन मारपीट के प्रकरण हैं। बुधवार देररात वारदात में रैकी करने के मामले में अनिल पिता गोकुल दरिंग को गिरफ्तार करते हुए अरशद पिता अकील के खिलाफ भी केस दर्ज किया है। फिलहाल छह आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज किया है।

 

15 दिन पहले हाे चुकी थी तैयारी
मछली व्यापार में प्रतिस्पर्धा को लेकर 2 साल पहले से चल रहे विवाद में इस साल 24 अप्रैल को शिवना पुल पर हुई फायरिंग के बाद से दोनों पक्षों में गरमागरमी रही। युवराज के गुर्गे अलावदाखेड़ी निवासी मोनू पाटीदार ने आरोपी फैजान उर्फ छोटू को तो युवराज ने दीपक को टारगेट बना रखा था। 10 दिन से दीपक खुद मंदसौर से बाहर है। मोनू का फैजान को टारगेट में लेने का कारण मछली व्यापार के विवाद में हुई पहली हत्या में मृत सोनू गोस्वामी के करीब होना तथा दूसरे गोलीकांड में फैजान के भाई फैजल का मुख्य गवाह होना है। 


छह माह पहले युवराज ने एसआरएम केबल नेटवर्क डीजियाना ग्रुप इंदौर को बेच दिया था। इसके बाद से केबल आॅपरेटर उससे नाराज थे। इनमें दीपक का चाचा आनंद तंवर भी शामिल हैं। विवादों के चलते दीपक को रास्ते से हटाने के लिए एक माह पहले युवराज ने यूूपी से बदमाश बुलाए जिसकी जानकारी दीपक को हो गई। करीब 15 दिन पहले से दीपक व उसके साथी सक्रिय हो गए। उन्होंने लोगों से मिलना-जुलना बंद कर दिया। करीबी लोगों से मिली जानकारी के अनुसार दीपक के साथी जब भी किसी वारदात को अंजाम देते हैं तो वे लोगों से मेलजोल बंद कर देते हैं।


10 महिलाओं सहित करीब 35 लोग हिरासत में
केबल व्यापार के मामले में मुख्य विवाद युवराज के साथी बंटी व उसके भाई बबलू केलवा के बीच बताया जा रहा है। इसमें दीपक व युवराज के बीच मारपीट हुई थी। हत्याकांड को लेकर पुलिस ने 10 महिलाओंे सहित करीब 35 लोगों को हिरासत में ले रखा है। इनसे पुलिस हर बिंदु पर पूछताछ कर रही है।


दो बार युवराज से जब्त किए थे अवैध हथियार
युवराज से पुलिस दो बार अवैध हथियार जब्त कर चुकी है। एक बार सुधाकर राव मराठा के साथ इंदौर में अवैध हथियार के साथ पकड़ा गया था। वहां उन्होंने खुद को सुधाकर का वकील बताया था इसलिए प्रकरण नहीं बना। जावरा में तत्कालीन टीआई एमपी सिंह परिहार ने अवैध हथियार के साथ उसे गिरफ्तार किया था। इसके अलावा युवराज पर काॅपीराइट एक्ट व 420 में दो प्रकरण भी दर्ज थे।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना