• Hindi News
  • Mp
  • Indore
  • Police detained those who Fraud 2 million with Amazon company via fake mobile, indore

अपराध / अमेजन के एक्सचेंज ऑफर में क्लोन मोबाइल के माध्यम से 20 लाख रुपए की चपत लगाने वाले गिरोह को पुलिस ने पकड़ा



Police detained those who Fraud 2 million with Amazon company via fake mobile, indore
X
Police detained those who Fraud 2 million with Amazon company via fake mobile, indore

  • बिहार का रहने वाला है मुख्य आरोपी सुशांत किशोर, इन्दौर में रहकर कर रहा था, आईआईएम में प्रवेश की तैयारी  
  • भोपाल में इंजिनियरिंग की पढ़ाई के दौरान संपर्क में आए उजेर खान से सीखा गोरखधंधा
     

Dainik Bhaskar

Jan 13, 2019, 12:57 PM IST

इंदौर. जिला साइबर सेल ने मुंबई की ग्रे मार्केट से मोबाइल क्लोनिंग कर बेचने वाले एक बड़े गिरोह का पर्दाफाश किया है। इस गिरोह ने अमेजन वेबसाइट पर क्लोनिंग के मोबाइल बेचकर करीब 20 लाख की चपत लगाई है।


जिला साइबर सेल एसपी जितेन्द्र सिंह ने बताया कि अमेजन के एक्सचेंज ऑफर का दुरुपायोग कर अमेजन को क्लोन मोबाइल देकर महंगे ब्राण्डेड मोबाइल धोखाधड़ी पूर्वक हासिल कर बाजार में बेचकर मोटा मुनाफा कमा रहा था। 


जितेन्द्र सिंह ने बताया कि 22 नवंबर 2018 को अमेजन कंपनी की तरफ से शिकायत प्राप्त हुई थी कि अमेजन द्वारा दिए जा रहे एक्सचेंज आॅफर का दुरूपयोग कुछ ईमेल आईडी एवं मोबाइल नंबर के धारकों द्वारा करके अमेजन को नुकसान पहुंचाया जा रहा है। अमेजन द्वारा धोखाधड़ी कर खरीदे गए 100 से अधिक मोबाइल नंबर एवं उनसे संबंधित डाटा भी उपलब्ध कराया गया।


मामले की गंभीरता को देखते हुए अपराध पंजीबद्ध कर जांच प्रारंभ की गई। जांच में यह पाया कि मुख्य आरोपी सुशांत किशोर द्वारा अपने सहयोगी उजेर खान के माध्यम से दिल्ली व मुंबई से क्लोन मोबाइल बुलवाकर अपने सहयोगी गगन त्यागी के साथ मिलकर अमेजन को क्लोन मोबाइल असली बताकर एक्सचेंज ऑफर के माध्यम से नए एवं ब्राण्डेड मोबाइल बुक कराए। इन मोबाइल पर छूट प्राप्त कर ओएलएक्स व अन्य वेबसाइट के माध्यम से बेच दिया गया।


जब क्लोन मोबाइल अमेजन को प्राप्त हुए तब उन्हें धोखाधड़ी होने का पता चला। गिरोह द्वारा 4 से 6 हजार रुपए कीमत के क्लोन मोबाइल अमेजन को देकर प्रति मोबाईल 10 से 20 हजार रुपए तक का मुनाफा कमाया जाता था। क्लोन मोबाइल हुबहु असली जैसे दिखते है, जबकि कीमत में वह असली मोबाइल से 10 गुना कम कीमत का होता है। गिरोह के निशाने पर महंगे एवं प्रिमियम मोबाइल थे।
 

COMMENT