इंदौर / मुठभेड़ में गोली लगने से एक बदमाश घायल, 2 गिरफ्तार; पुलिस को भी चोटें आईं

पुलिस ने घेराबंदी कर दोनों आरोपियों को गिरफ्तार किया। पुलिस ने घेराबंदी कर दोनों आरोपियों को गिरफ्तार किया।
X
पुलिस ने घेराबंदी कर दोनों आरोपियों को गिरफ्तार किया।पुलिस ने घेराबंदी कर दोनों आरोपियों को गिरफ्तार किया।

  • अन्नपूर्णा क्षेत्र के सरस्वती नगर में मंगल मूर्ति अपार्टमेंट के फ्लैट नंबर 201 और 202 में की थी चोरी
  • आरेापियों के पास से एक सोने की चेन, एक मंगल सूत्र, दो सोने की अंगूठी, एक पायजेब बरामद हुई
  • पुलिस ने चांदी का ब्रेसलेट, पांच नग चांदी की बिछुड़ी, 1 लाख 40 हजार रुपए और एक भी जब्त की  

Dainik Bhaskar

Dec 03, 2019, 06:03 PM IST

इंदौर. पिछले दिनों शहर में हुई चोरी की बड़ी वारदात में शामिल बदमाशों को पकड़ने गई पुलिस टीम पर बदमाशों ने हमला कर दिया। पुलिसकर्मियों पर फायर कर बदमाश भागने की फिराक में थे, लेकिन उन्हें दबोच लिया गया। मामला मंगलवार सुबह का है। मुठभेड़ में एक बदमाश को गोली लगी है। वहीं पुलिसकर्मियों को भी हल्की चोट आई है। पुलिस को इनके पास से एक सोने की चेन, एक सोने का मंगल सूत्र, दो सोने की अंगूठी, पायजेब, एक चांदी का ब्रेसलेट, पांच नग चांदी की बिछुड़ी और एक लाख 40 हजार रुपए नकद बरामद हुए हैं।

एसएसपी रूचिवर्धन मिश्र ने बताया कि  201 और 202 मंगलमूर्ति अपार्टमेंट में रहने वाले दिलीप पिता कैलाशचंद गुप्ता और स्मिता पति योगेश क्षीर सागर ने अन्नापूर्णा पुलिस को बताया कि 27 नवंबर को वे ढाई से साढ़े 3 बजे के बीच किसी काम से बाहर गए थे। जब वे लौटे तो मेनगेट का ताला टूटा था और सामान बिखरा पड़ा था। दिलीप के अनुसार चोर एक सोने का कमर बंद , छह सोने की चूड़ी, सोने के दो ब्रेसलेट, एक सोने का रानी हार, तीन सोने की चैन, कान के छह जोड़, तीन सोने के मंगल सूत्र, सोने की तीन चैन, मंगल सूत्र के सोने के पेंडल चार, सोने की 12 अंगूठी, एक सोने का टीका, सोने का एक सिक्का 10 ग्राम का, सोने का एक पेंडल सेट, करीब 30 चांदी के सिक्के सहित चांदी का अन्य सामान और करीब 10 हजार रुपए नकद ले गए। वहीं स्मिता ने बताया कि उनके घर से एक सोने का मंगल सूत्र, दो सोने की चैन, सोने की चार चूड़ियां, सोने का एक हार साथ में कान के टाॅप्स,  5 – 5 ग्राम के दो सोने के सिक्के, 54 ग्राम सोने के टुकड़े, एक अंगूठी सोने की, करीब 30 हजार नकदी और 11 एफडी व घर के कागजात ले गए।

स्मिता ने बताया कि जब घर आई तो उसे अपार्टमेंट की सीढी पर तीन लोग उतरते हुए मिले थे। उनके पास एक सफेद रंग की स्विफ्ट कार भी थी। फरियादी की रिपोर्ट पुलिस ने जांच शुरू की और एक टीम महाराष्ट्र रवाना हुई। टीम ने महाराष्ट्र पुलिस की मदद से पता किया तो कार मालिक स्वामी कैलाश मोरे निकला जो गिरोह का सरगना है। इस गिरोह के खिलाफ महाराष्ट्र में भी कई केस दर्ज हैं। मोरे गिरोह के सदस्यों के साथ मिलकर लूट, नकबजनी जैसी गंभीर घटना को अंजाम देता है। टीम ने यहां तीन- से चार दिन तक इनके बारे में जानकारी जुटाई।

मंगलवार को महाराष्ट्र से लौटते समय टीम को मानपूर के पास मुखबीर द्वारा सूचना मिली कि उक्त गिरोह के दो सदस्य लूट की घटना को अंजाम देने की नियत से रैकी कर रहे हैं। सूचना को पता चला कि सूबह साढ़े 6 बजे कैलाश अपने साथी अजय के साथ मानपुर और पीथमपुर के बीच में अपनी सफेद रंग की कार से गुजर रहा है। इस पर टीम ने घेराबंदी कर उन्हें रोकने का प्रयास किया तो उन्होंने टीम के ऊपर गाड़ी चढ़ाने का प्रयास किया, जो पुलिस वाहन से जा टकराई। इसके बाद उन्होंने पुलिस पर गोली चला दी। इस पर टीम ने बचाव में गोली चलाई तो वे भागने लगे। इस पर पुलिस ने दोनांे को दबोच लिया। 

पुलिस के अनुसार पकड़ में आए आरोपी ने अपना नाम कैलाश पिता चिंतामण मौरे नि. सोनगीर धुलिया महाराष्ट्र और अजय पिता प्रताप कटवाल निवासी नगांव पारी पुरुषोत्तम काॅलोनी धुलिया महाराष्ट्र बताया। मुठभेड़ में कैलाश पिता चिंतामण मौरे और पुलिस जवान घायल हो गए। आरोपी कैलाश को एमवायएच में इलाज के लिए लेकर जाया गया, जबकि अजय को कोर्ट में पेश किया गया। पुलिस को इनके पास से एक सोने की चेन, एक सोने का मंगल सूत्र, दो सोने की अंगूठी, पायजेब, एक चांदी का ब्रेसलेट, पांच नग चांदी की बिछुड़ी और  एक लाख 40 हजार रुपए नकद बरामद हुए हैं।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना