--Advertisement--

इंदौर: चौकीदार की पत्नी ने सिसकते हुए कहा- पेट पर पड़ी लातों का सबूत चाहिए तो मेरे मृत बच्चे का चोटिल सिर देख लो

पुलिस ने मामले में मारपीट करने वाले व्यापारी मुकेश वाधव और दीपक चावला को हिरासत में ले लिया

Danik Bhaskar | Sep 06, 2018, 05:28 PM IST
सीसीटीवी फुटेज में 5-6 लोग चौकीद सीसीटीवी फुटेज में 5-6 लोग चौकीद

इंदौर. वृंदावन धाम अपार्टमेंट के चौकीदार अजय गौतम और उसकी पत्नी सपना से मारपीट करने वाले व्यापारी मुकेश वाधवानी और दीपक चावला को पुलिस ने बुधवार को हिरासत में ले लिया। पुलिस ने मामले में आईपीसी की धारा 316 और एससी-एसटी एक्ट की धाराएं बढ़ाई हैं। पीएम रिपोर्ट आने के बाद गंभीर धाराएं बढ़ाई जाएंगी।

सपना ने बताया, पति पांच साल से बिल्डिंग में चौकीदारी कर रहे हैं। फ्लैट नं. 206 के रहने वाले मुकेश वाधवानी की कार में पति से मामूली सा स्क्रैच लगा था। उस पर उन्होंने रात में साढ़े 10 बजे मेरे पति को अपने प्लैट में लाइट बंद होना बताकर बुलाया था। पति ने नीचे से पावर चेक किया तो फ्लैट में पावर सप्लाइ चालू था, लेकिन जब वे ऊपर गए तो वहां उनसे स्क्रैच को लेकर विवाद करना शुरू कर दिया। इसके बाद अन्य फ्लैट के रहवासी भी आ गए और बीच-बचाव कर मामला शांत किया।

रविवार की ही रात व्यापारी मुकेश व दीपक चावला अपने भाई अक्कू और बंटी मोटवानी के साथ रात करीब पौने दो बजे के दरमियान घर में घुसे और पति को बिस्तर पर ही मारना शुरू कर दिया। मेरी नींद खुली तो मुझे भी धक्का दे दिया। पति को पिटता देख मैंने उन लोगों को रोकना चाहा तो मेरे पेट में मुकेश ने एक लात मारी फिर दीपक ने पति को लात मारी तो आगे होने से मुझे उसकी भी लात लगी। इसके बाद पति बाहर की ओर भागे तो उन्हें वहां दौड़ा-दौड़ाकर पीटा और एक ने तो सड़क के डिवाइडर से झाड़ उखाड़कर उसकी उसी से बुरी तरह पिटाई की। बाद में ये फिर बिल्डिंग में आए तो इन पर केन मारी जो मेरे कंधे पर लगी, बाद में पति पर साइकिल उठाकर भी फेंकना चाहा। इस विवाद में मेरा ब्लड प्रेशर बढ़ गया और फुलटाइम होने से मेरी तबीयत बिगड़ गई थी। बाद में डॉक्टरों ने हमारे बच्चे के जीवित न होने की जानकारी देकर हमारी खुशियां ही काफूर कर दी। घटना के वक्त मेरी साढ़े चार साल की बेटी लक्ष्मी भी मौजूद थी।