--Advertisement--

पूरे देश में 1 जुलाई से नए फाॅर्मेट में मिलेंगे रजिस्ट्रेशन और लाइसेंस कार्ड

1 जुलाई से पूरे देश में नए फाॅर्मेट के ड्राइविंग लाइसेंस और गाड़ियों के रजिस्ट्रेशन कार्ड मिलेंगे। अभी हर राज्य के...

Dainik Bhaskar

Nov 11, 2018, 04:40 AM IST
Indore - registrations and licensing cards will be available in the new format from 1st july across the country
1 जुलाई से पूरे देश में नए फाॅर्मेट के ड्राइविंग लाइसेंस और गाड़ियों के रजिस्ट्रेशन कार्ड मिलेंगे। अभी हर राज्य के कार्ड अलग-अलग तरह के होते हैं, लेकिन नई व्यवस्था के तहत पूरे देश में एक जैसे ही कार्ड होंगे। इनमें मौजूदा कार्ड की अपेक्षा कहीं ज्यादा और नई जानकारियां शामिल होंगी। शासन ने दोनों ही कार्ड का फॉर्मेट भी जारी कर दिया है। दोनों ही कार्ड्स में क्यूआर कोड और चिप भी होगी और कार्ड पर प्रिंट जानकारियों के अलावा चिप में चालक और वाहन की हर जानकारी शामिल होंगी। इसके लिए केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ड्राफ्ट नोटिफिकेशन जारी कर दिया है।

वाहन के रजिस्ट्रेशन कार्ड में भी कई नई जानकारियों को शामिल किया है। इस पर भी क्यूआर कोड होगा, जिसमें गाड़ी की लंबाई, चौड़ाई, ऊंचाई और टायर के दोनों ओर हैंगिंग की भी जानकारी दर्ज होगी। इससे कमर्शियल वाहनों में बढ़ाई गई लंबाई को आसानी से पकड़ा जा सकेगा।वहीं अब तक जहां कार्ड पर सिर्फ सिटिंग केपेसिटी लिखी जाती थी, वहीं अब इस पर सिटिंग, स्टैंडिंग और स्लीपर कैपेसिटी भी दर्ज होगी। शेष | पेज 9 पर



यह जानकारी यात्री वाहनों के लिए महत्वपूर्ण होगी और इससे ओवर लोडिंग जैसे मामलों में आसानी से जांच कर कार्रवाई की जा सकेगी। ट्रैक्टर जैसे वाहनों में अलग से लगने वाली ट्रॉली का नंबर भी उसके रजिस्ट्रेशन कार्ड में दर्ज होगा। साथ ही गाड़ी में अगर सीएनजी या एलपीजी किट लगी है तो उसका नंबर भी दर्ज किया जाएगा।

चिप में चालान तक की जानकारी होगी सेव

लाइसेंस कार्ड की चिप में प्रिंट की गई सभी जानकारी सेव होगी। इसमें चालक द्वारा परिवहन नियमों का उल्लंघन करने पर उस पर लगे अपराध और चालान की जानकारी भी रहेगी, ताकि कभी भी कोई नियम तोड़े जाने या अपराध किए जाने पर उसका पुराना रिकॉर्ड देखा जा सके। वहीं रजिस्ट्रेशन कार्ड की चिप में भी वाहन और वाहन मालिक की सारी जानकारी के साथ, वाहन द्वारा किए गए अपराधों की सारी जानकारी सेव होगी। इसके साथ ही टैक्स, बीमा और पीयूसी की भी जानकारी इसमें दर्ज होगी। कमर्शियल वाहनों के मामले में उनका रूट, परमिट, फिटनेस सहित कई और जानकारियां इसमें सेव होगी।

लाइसेंस पर इमरजेंसी नंबर और अंगदान की जानकारी भी होगी

लाइसेंस में नाम, पता, फोटो, जन्म तारीख, ब्लड ग्रुप, लाइसेंस की वैधता, किस श्रेणी का वाहन वह चला सकता है, जैसी बातों के साथ ही पहली बार इमरजेंसी कांटेक्ट नंबर और अंगदाता है या नहीं इसकी भी जानकारी होगी। वहीं कार्ड के पीछे की ओर क्यूआर कोड और चिप लगी होगी। साथ ही अलग-अलग कैटेगरी के लाइसेंस की वैधता की जानकारी और छह तरह के वाहन की श्रेणी भी होगी, अभी कार्ड में चार तरह की ही कैटेगरी होती है। परिवहन उपायुक्त संजय सोनी के मुताबिक अपडेट लाइसेंस आपात स्थिति में मददगार होगा।

X
Indore - registrations and licensing cards will be available in the new format from 1st july across the country
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..