--Advertisement--

गिटार चौराहे पर रोज लगता है जाम, अब यहां का ट्रैफिक रोबोट संभालेगा

यह फैसला गुरुवार दोपहर कलेक्टर निशांत वरवड़े की अध्यक्षता में हुई जिला स्तरीय सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में लिया गया।

Danik Bhaskar | May 18, 2018, 06:18 AM IST

इंदौर. शहर के ट्रैफिक को सुधारने के लिए 15 से ज्यादा चौराहों पर ट्रैफिक सिग्नल लगाए जाएंगे। दो चौराहों पर कम लागत वाले रोबोट वाले ट्रैफिक सिग्नल लगाए जाएंगे। एक सिग्नल गिटार (माथुर) तिराहे पर लगाया जाएगा। हाल ही में देखने में आया है कि इंडस्ट्री और पलासिया चौराहे के बीच इस तिराहे पर आए दिन ट्रैफिक जाम हो रहा है। इसकी एक वजह ट्रैफिक बल कम होना है। इसकी पूर्ति के लिए यहां सिग्नल लगाना जरूरी है।


यह फैसला गुरुवार दोपहर कलेक्टर निशांत वरवड़े की अध्यक्षता में हुई जिला स्तरीय सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में लिया गया। कलेक्टर ने पूरे बीआरटीएस कॉरिडोर पर ट्रैफिक सिग्नल के साथ टाइमर लगाने के भी निर्देश एआईसीटीएसएल को दिए, जिससे कि बेवजह का पेट्रोल बर्बाद नहीं हो और वाहन चालक सिग्नल पर वाहन बंद कर दें।


बैठक में बताया गया कि शहर में आवश्यकता के अनुरूप और बहुमंजिला पार्किंग बनाए जाएंगे। इसके लिए नगर निगम को प्रस्ताव बनाने को कहा गया। कलेक्टर ने कहा- शहर के नए चौराहों पर लेफ्ट टर्न व्यवस्थित होना चाहिए, जिससे ट्रैफिक जाम नहीं हो और जहां नहीं, वहां बनाए जाएं, इनके डिवाइडर लंबी दूर तक हों, जिससे सीधे जाने वाला वाहन इसमें नहीं घुसे। बैठक में बताया गया कि राऊ बायपास चौराहे पर रोटरी हटाकर वहां सिग्नल लगाया जाएगा।

निगमायुक्त बोले- तोड़ते व मलबा हटाते समय 36 घंटे बंद रहेगा सरवटे बस स्टैंड
निगमायुक्त ने बताया कि सरवटे बस स्टैंड को तोड़ने और मलबा हटाने में 36 घंटे लगेंगे। इस दौरान बसों का संचालन अन्य वैकल्पिक स्थान से किया जाएगा। यात्रियों को किसी भी तरह की असुविधा नहीं होने दी जाएगी। बस स्टैंड का भवन तोड़ने के बाद अस्थायी शेड बनाकर बसों का संचालन फिर शुरू कर दिया जाएगा। तीन इमली ‍स्थित बस स्टैंड पर यात्री सुविधाओं के विस्तार का काम तेजी से हो रहा है7 वहां शुलभ-शौचालय बन चुके हैं।

पीपल्याहाना ब्रिज बनने के दौरान डायवर्शन प्लान हमें मंजूर नहीं : ट्रैफिक एएसपी
एएसपी ट्रैफिक प्रदीप चौहान ने कहा- पीपल्याहाना पर ब्रिज बनने के लिए काॅन्ट्रैक्टर ने ट्रैफिक डायवर्ट करने का जो प्लान दिया है, उससे हम संतु्ष्ट नहीं हैं और इससे आमजन को लंबा घूमना पड़ेगा। ब्रिज बनने के दौरान दुर्घटना नहीं हो, हमें इसका ध्यान रखना है। इस पर काम किया जा रहा है। बैठक में डीआईजी हरिनारायणाचारी मिश्र, नगर निगम आयुक्त आशीष सिंह, अपर कलेक्टर कैलाश वानखेड़े सहित अन्य संबंधित विभागों के अधिकारी मौजूद थे।