--Advertisement--

सैकड़ों लोगों की भीड़ के बीच लोगों के ऊपर से दौड़कर निकल गईं गायें, आस्था का शॉकिंग वीडियो

यह डरावना मंजर है मध्य प्रदेश के आदिवासी अंचल झाबुआ और धार जिले में दीपावली के अगले दिन मनाए जाने वाले गाय गोहरी पर्व का

Dainik Bhaskar

Nov 08, 2018, 04:20 PM IST

झाबुआ, मप्र। यह दृश्य लोगों की ईश्वर के प्रति अटूट आस्था को दर्शाता है! अगर इंसान ठान ले, तो कुछ भी असंभव नहीं है। 'गोविंद बोलो हरि गोपाल बोलो' की धुन के साथ जमीन पर लेटे लोग और उनके ऊपर से दौड़कर निकलतीं गायें, इंसान की इसी मन की शक्ति को साबित करता है। मौत से सामना होने के बावजूद लोग निडर रहते हैं। यह डरावना मंजर है मध्य प्रदेश के आदिवासी अंचल झाबुआ और धार जिले में दीपावली के अगले दिन मनाए जाने वाले गाय गोहरी पर्व का। झाबुआ-धार में जगह-जगह मनाया जाता है यह पर्व।

-झाबुआ में गोवर्धननाथ मंदिर के सामने गाय गोहरी होती है। मंदिर की 7 बार परिक्रमा की जाती है। आदिवासी अंचल में इस पर्व का एतिहासिक महत्व है। यह पर्व गाय और ग्वाला के आत्मीय रिश्ते की कहानी कहता है। गाय यानी जगत की पालनहार और गोहरी का अर्थ होता है ग्वाला।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended