मप्र / जीएसटी टैक्स घोटाले में नाम आने से कर सलाहकार ने की आत्महत्या



Tax adviser commits suicide after getting names in GST tax scam
X
Tax adviser commits suicide after getting names in GST tax scam

Dainik Bhaskar

Jul 12, 2019, 03:46 AM IST

इंदौर |  जीएसटी टैक्स घोटाले में नाम आने के बाद कर सलाहकार गोविंद अग्रवाल (48) ने गुरुवार को इंदौर के जावरा कंपाउंड में कृष्णा अपार्टमेंट के दूसरी मंजिल से कूदकर आत्महत्या कर ली। दरअसल, वाणिज्यिक कर विभाग ने 250 करोड़ के इनपुट टैक्स क्रेडिट घोटाले के सिलसिले में 5 जुलाई को 20 से ज्यादा ठिकानों पर छापे मारे थे, इसमें अग्रवाल की मुराई मोहल्ला स्थित फर्म सहित तीन ठिकाने भी शामिल थे।


उनका दफ्तर भी सील कर दिया गया था। तभी से उनसे लगातार पूछताछ की जा रही थी। गिरफ्तारी की आशंका को देखते हुए अग्रवाल ने हाईकोर्ट में अग्रिम जमानत याचिका भी दायर की थी। दोपहर में सुनवाई होनी थी, लेकिन इससे पहले ही करीब साढ़े दस बजे उन्होंने आत्महत्या कर ली। इस मामले में उनके बड़े भाई संतोष ने आरोप लगाया कि सीए रवि गोयल व कारोबारी देवेंद्र शर्मा परेशान कर रहे थे। जीएसटी केस सेटल करने के नाम पर भी राशि मांगी जा रही थी। 


 परिजनों का यह भी आरोप है कि पूछताछ के नाम पर जीएसटी की टीम रोजाना परेशान कर रही थी, मौत के एक दिन पहले भी रात 1.30 बजे तक उनसे पूछताछ की गई, उन्होंने करीब ढाई लाख रुपए का टैक्स भी भरा था। सीएसपी ज्योति उमठ का कहना है कि अभी मर्ग कायम कर जांच शुरू की गई है। परिजन ने कुछ लोगों पर आरोप लगाया है। इसकी जांच शुरू कर दी गई है। 


20 करोड़ की फर्जी बिलिंग इनकी फर्म के नाम पर  : जानकारी के अनुसार ढाई सौ करोड़ की जो फर्जी बिलिंग की जांच विभाग कर रहा है, इसमें अग्रवाल के परिजन के नाम पर बनी फर्म का भी नाम था और इसमें 20 करोड़ की फर्जी बिलिंग  का काम इनकी फर्म के नाम पर आ रहा था। विभाग इसकी जांच कर रहा था। जीएसटी में दो करोड़ से अधिक की कर चोरी में जमानती गिरफ्तारी और पांच करोड़ से अधिक की कर चोरी में गैर जमानती गिरफ्तारी है। 


 

यह घटना दुर्भाग्यपूर्ण है, विभाग टैक्स चोरी पर जांच कर रहा था, अभी जांच जारी ही थी और यह किसी एक व्यक्ति पर नहीं होकर पूरे नेटवर्क पर छापा था, जिसमें 20 से ज्यादा फर्म जुडी हुई थीं।  - डीपी आहूजा,  स्टेट टैक्स कमिशनर

 

वित्तमंत्री भनोत से मांगी थी मदद : अग्रवाल ने वित्तमंत्री तरुण भनोत से भी मदद मांगी थी। मंत्री की ओर से उन्हें संदेश गया कि वह स्टेट टैक्स कमिश्नर से मिल लें। बुधवार शाम वह कमिश्नर से मिलने भी गए।  

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना