• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Indore
  • News
  • Indore शिखा पर बड़े बिल्डर, व्यापारियों से संबंध बनाकर उन्हें ब्लैकमेल करने का दबाव बना रहे थे आरोपी
विज्ञापन

शिखा पर बड़े बिल्डर, व्यापारियों से संबंध बनाकर उन्हें ब्लैकमेल करने का दबाव बना रहे थे आरोपी

Dainik Bhaskar

Sep 12, 2018, 03:40 AM IST

News - एरोड्रम के अशोक नगर में फांसी लगानेे वाली शिखा हलदुनिया ने मौत से पहले लगातार दो दिन तक एरोड्रम टीआई को फोन कर...

Indore - शिखा पर बड़े बिल्डर, व्यापारियों से संबंध बनाकर उन्हें ब्लैकमेल करने का दबाव बना रहे थे आरोपी
  • comment
एरोड्रम के अशोक नगर में फांसी लगानेे वाली शिखा हलदुनिया ने मौत से पहले लगातार दो दिन तक एरोड्रम टीआई को फोन कर संपर्क किया, लेकिन वह कुछ बता नहीं सकी। इधर उसके शव का पीएम हुआ तो पता चला उसने आत्महत्या से पहले काफी नशा किया था। हाथों में भी ब्लेड से नस काटने के निशान मिले हैं। उसका सुसाइड नोट जांच के लिए भेजा गया है।

मौत से पहले टीआई को कॉल कर कुछ बताने की बात कही थी

एरोड्रम टीआई अशोक पाटीदार ने बताया कि शिखा ने गुरुवार को पत्रकार अजय जायसवाल की मौत वाले दिन कॉल किया था। वह कंफर्म करना चाह रही थी कि हीरा नगर में जिस युवक की मौत हुई है वह अजय ही है क्या। उसने दोबारा कॉल किया था। मैंने उसे थाने आने का बोला, पर वह नहीं आई। पता चला है कि उसने जिन राजा सांखला, सुनील, नितिन उर्फ जान यादव, लाखन पटेल पर दुष्कर्म का केस दर्ज करवाया था, वे उसे बड़े बिल्डर, व्यापारियों से संबंध बना ब्लैकमेल करने के लिए उकसा रहे थे।

गुरु बहन मानने, राखी बंधवाने के बावजूद बना लिए थे अनैतिक संबंध

सूत्रों के मुताबिक सुनील शिखा से राखी बंधवा चुका था और उसे गुरु बहन मानने लगा था। बाद में सुनील ने उससे अवैध संबंध बना लिए थे। बताते हैं कि सुनील ने राजा, नितिन, लाखन के साथ मिलकर शिखा पर क्षेत्र के एक बिल्डर को दुष्कर्म के मामले में फंसाकर दो करोड़ ऐंठने के लिए भी दबाव बनाया था। सुसाइड नोट में शिखा ने उक्त बिल्डर को भैया लिखकर अपने परिजनों की देखरेख के लिए अंतिम लाइन लिखी है। एएसपी मनीष खत्री का कहना है कि शिखा और अजय की मौत की लिंक आपस में मिलती दिख रही है।

X
Indore - शिखा पर बड़े बिल्डर, व्यापारियों से संबंध बनाकर उन्हें ब्लैकमेल करने का दबाव बना रहे थे आरोपी
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें