• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Indore
  • News
  • Indore - मिट्‌टी के गणेश को दिया दगड़ू शेठ का रूप, विसर्जन के बाद खिलेंगे फूल
--Advertisement--

मिट्‌टी के गणेश को दिया दगड़ू शेठ का रूप, विसर्जन के बाद खिलेंगे फूल

सिटी रिपोर्टर | त्योहार को उल्लास के साथ मनाना हमारी परंपरा है लेकिन पर्यावरण संरक्षण के प्रति सचेत रहना भी हमारा...

Dainik Bhaskar

Sep 11, 2018, 03:36 AM IST
Indore - मिट्‌टी के गणेश को दिया दगड़ू शेठ का रूप, विसर्जन के बाद खिलेंगे फूल
सिटी रिपोर्टर | त्योहार को उल्लास के साथ मनाना हमारी परंपरा है लेकिन पर्यावरण संरक्षण के प्रति सचेत रहना भी हमारा नैतिक दायित्व है। इसी को ध्यान में रखते हुए एमकेएचएस गुजराती गर्ल्स कॉलेज में ईकोफ्रेंडली गणेश मेकिंग वर्कशॉप लगाई गई। इसमें छात्राओं को मिट्‌टी और पेपरमेशी के जरिये गणेश प्रतिमा बनाना सिखाया गया। छात्राओं ने गणेश प्रतिमा बनाने के दौरान उसमें बीज भी रोपे जो विसर्जन के बाद पौधे का रूप लेंगे। वर्कशॉप में तकरीबन 200 से अधिक छात्राओं और टीचर्स ने प्रशिक्षण प्राप्त किया। इस मौके पर गुजराती समाज उपाध्यक्ष मुकेशभाई पटेल ने छात्राओं के हुनर को सराहते हुए इसे पर्यावरण संरक्षण की दिशा में सार्थक पहल बताया। प्राचार्य डॉ. गोविंद सिंघल ने कहा कि स्वस्थ समाज के लिए पर्यावरण का सुरक्षित व प्रदूषणमुक्त रहना ज़रूरी है।

सिटी रिपोर्टर | इंदौर

पर्यावरण संरक्षण के साथ ही अपने हाथों से गणपति की प्रतिमा बनाना, रंग-रोगन कर सजाकर उसकी स्थापना करने का अपना अलग महत्व है। इसी को ध्यान में रखते हुए ईकोफ्रेंडली गणेश प्रतिमा बनाना सिखाने के लिए शहर में वर्कशॉप का सिलसिला लगातार जारी है। शहर की आर्टिस्ट रश्मि और नम्रता गुप्ता ने भी ग्रीन गणेशा थीम पर वर्कशॉप ली। एक कैफे में हुई इस वर्कशॉप में 55 से 60 लोगों ने हिस्सा लिया। जहां सभी ने मिट्‌टी के गणेश बनाना सीखा और फिर मेंटर रश्मि और नम्रता की मदद से उन्हें अलग-अलग रूपों में रचा। किसी ने बाल गणेश बनाए तो किसी ने अपनी गणेश प्रतिमा को मुंबई के दगड़ू शेठ का रूप दिया। कुछ ने लालबाग के राजा का निर्माण किया। रश्मि ने बताया कि ग्रीन गणेशा थीम पर तैयार की गई इन प्रतिमाओं में लिली के बीज डाले गए हैं। इन गणेश प्रतिमाओं का विजर्सन घर मेंे गमलों में ही किया जाएगा और 10 से 15 दिन में लिली का पौधा उग आएगा।

70 महिलाओं ने सीखा मिट्‌टी के गणेश बनाना

पर्यावरण संरक्षण को ध्यान में रखते हुए उमंग ग्रुप की ओर से ईकोफ्रेंडली गणेश वर्कशॉप कराई गई। इसमें 70 महिलाओं को मुकेश अग्रवाल ने मिट़्टी की गणेश प्रतिमा बनाना सिखाया। अनामिका अग्रवाल ने बताया कि सभी महिलाओं ने अपने हाथों से मिट्‌टी की गणेश प्रतिमा स्थापित कर घर में ही विसर्जन करने का संकल्प लिया। उन्होंने कहा कि प्रत्येक घर में अपने हाथों से बनाई गणेश प्रतिमा बनाकर ही स्थापित करना चाहिए। इससे हमारे बच्चों में भी ये संस्कार आएंगे और पर्यावरण के प्रति जागरूकता भी बनी रहेगी।

इसी कड़ी में राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई ने ग्रीन इंदौर क्लीन इंदौर थीम पर रैली का आयोजन किया। इसमें छात्राओं ने कॉलेज से सरदार पटेल ग्राउंड तक रैली में पोस्टर्स, बैनर और नारों के जरिये लोगों को पर्यावरण के प्रति जागरूक किया। इस मौके पर स्टूडेंट्स ने पौधरोपण भी किया। कार्यक्रम में रासेयो कार्यक्रम अधिकारी प्रो. मीना बदल्वा व डॉ. सुषमा शाही सहित 100 से अधिक कार्यकर्ता शामिल हुए।

Indore - मिट्‌टी के गणेश को दिया दगड़ू शेठ का रूप, विसर्जन के बाद खिलेंगे फूल
Indore - मिट्‌टी के गणेश को दिया दगड़ू शेठ का रूप, विसर्जन के बाद खिलेंगे फूल
X
Indore - मिट्‌टी के गणेश को दिया दगड़ू शेठ का रूप, विसर्जन के बाद खिलेंगे फूल
Indore - मिट्‌टी के गणेश को दिया दगड़ू शेठ का रूप, विसर्जन के बाद खिलेंगे फूल
Indore - मिट्‌टी के गणेश को दिया दगड़ू शेठ का रूप, विसर्जन के बाद खिलेंगे फूल
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..