--Advertisement--

पेटलावद ब्लास्ट की जांच में सच्चाई को दबा दिया गया : कमलनाथ

भास्कर न्यूज | झाबुआ/पेटलावद प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ बुधवार को परिवर्तन रैली लेकर झाबुआ जिले के पेटलावद...

Danik Bhaskar | Sep 13, 2018, 03:16 AM IST
भास्कर न्यूज | झाबुआ/पेटलावद

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ बुधवार को परिवर्तन रैली लेकर झाबुआ जिले के पेटलावद पहुंचे। बुधवार को पेटलावद में 12 सितंबर 2015 को हुए ब्लास्ट की तीसरी बरसी भी थी। उन्होंने कहा बड़े दु:ख के साथ कहना पड़ता है कि पेटलावद ब्लास्ट की जांच में सच्चाई को दबाया गया। उनका इशारा ब्लास्ट के मुख्य आरोपी राजेंद्र कासवां के भाजपा से जुड़े होने के आरोपों को लेकर था। कमलनाथ ने कहा-मैंने अपने राजनीतिक जीवन में आज तक नहीं देखा कि हर वर्ग किसी सरकार से इतना परेशान हो। शिवराजसिंहजी यात्रा पर किसके खर्च पर आते हैं। यह आपके पैसे खर्च किए जाते हैं। उन्होंने कहा-शिवराज इंदौर में समिट करते हैं और कहते हैं उद्योग खुलेंगे। मप्र में जितने उद्योग खुलते नहीं, उससे ज्यादा बंद हो जाते हैं। खुलते सिर्फ शराब उद्योग हैं।

नीमच में कमलनाथ को दिखाए काले झंडे, टमाटर फेंके

रतलाम/नीमच/मंदसौर |
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ के काफिले पर नीमच के फव्वारा चौक पर करणी सेना, सपाक्स से जुड़े लोगों ने काले झंडे दिखाकर वाहन पर टमाटर फेंके और कमलनाथ वापस जाओ के नारे लगाए। मंदसौर में सीएम का कार्यक्रम बिगाड़ने की आशंका में पुलिस ने करणी सेना जिलाध्यक्ष रवींद्रसिंह राणा को हिरासत में लिया। हालांकि बाद में छोड़ दिया।

सभा को संबोधित करते हुए कमलनाथ ।

कांग्रेस सरकार प्रदेश की जनता की मर्जी पर चलेगी : सिंधिया

बुरहानपुर | कांग्रेस की परिवर्तन यात्रा बुधवार दोपहर 12.15 बजे बुरहानपुर पहुंची। पांच साल बाद चुनाव प्रचार अभियान समिति अध्यक्ष व सांसद बनने के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया को सुनने के लिए 10 हजार से ज्यादा लोग सभा में उमड़ पड़े। सिंधिया ने शुरुआत में 3.45 मिनट का भाषण ये जताते हुए मराठी में दिया कि ये जिला महाराष्ट्र राज्य से सटा हुआ है, यहां अधिकांश मराठी भाषी लोग रहते हैं और वो खुद भी मराठा हैं। उन्होंने जनता को आश्वस्त करते हुए कहा कि आगे जो विधानसभा चुनाव है, ये ज्योतिरादित्य के लिए राजनैतिक लड़ाई नहीं है, इस संग्राम में मैं इसलिए कूदा हूं क्योंकि ये मप्र की जनता की लड़ाई है। उन्होंने कहा कांग्रेस की सरकार बनेगी तो आप लोगों की अर्जी के आधार पर नहीं चलेगी, बल्कि आपकी मर्जी के आधार पर चलेगी।