मध्यप्रदेश / उज्जैन: तीन तरीके से होगी महाकाल मंदिर के स्ट्रक्चर की मजबूती की जांच



three ways to check the strength of the structure of Mahakal temple
X
three ways to check the strength of the structure of Mahakal temple

  • जांच का पहला चरण मंगलवार को मंदिर के हरेक हिस्से की नाप लेने के साथ शुरू
  • इसकी रिपोर्ट ऑर्कोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया को प्रस्तुत की जाएगी

Dainik Bhaskar

Sep 11, 2019, 06:20 AM IST

उज्जैन. महाकालेश्वर मंदिर के स्ट्रक्चर की जांच तीन तरीके से होगी। जांच के बाद तय होगा कि मंदिर का ऊपरी हिस्सा कितना वजन सह पाएगा। नागपंचमी पर मंदिर के दूसरे माले पर एक साथ कितने लोग दर्शन कर सकते हैं। जांच का पहला चरण मंगलवार को मंदिर के हरेक हिस्से की नाप लेने के साथ शुरू हो गया। तीन महीने में जांच पूरी होगी। इसकी रिपोर्ट ऑर्कोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया को प्रस्तुत की जाएगी। 

 

सुप्रीम कोर्ट ने मंदिर के स्ट्रक्चर की मजबूती की जांच के लिए केंद्र सरकार को जिम्मेदारी दी है। जांच केंद्रीय भवन अनुसंधान केंद्र रुड़की, आईआईटी मद्रास और राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान भोपाल के विशेषज्ञों की कमेटी से कराने को कहा है। कोर्ट में 16 सितंबर तक जांच रिपोर्ट प्रस्तुत करना है। इस कड़ी में सोमवार को रुड़की के दो विशेषज्ञ अचल कुमार मित्तल व सिद्धार्थ बेहरा महाकाल मंदिर आए। मंगलवार सुबह को उन्होंने ऑर्कोलॉजीकल व जियालॉजिकल विशेषज्ञों के साथ महाकाल मंदिर के गर्भगृह से लेकर नागचंद्रेश्वर ऊपर आखिरी हिस्से तक अवलोकन किया।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना