--Advertisement--

मध्यप्रदेश / इंदौर-अहमदाबाद नेशनल हाईवे पर टोल वसूली रोकी



Toll recovery Stop Indore-Ahmedabad National Highway
X
Toll recovery Stop Indore-Ahmedabad National Highway

  • आचार संहिता व अधूरे निर्माण के बाद भी हो रही थी वसूली

Dainik Bhaskar

Nov 10, 2018, 05:01 AM IST

इंदौर . चुनाव आचार संहिता के बावजूद अधूरे इंदौर-अहमदाबाद नेशनल हाईवे पर टोल वसूली मंगलवार आधी रात से शुरू कर दी गई। इसके चलते घाटा बिल्लौद व राजगढ़ के दत्तीगांव स्थित टोल नाके पर वसूली की गई। इसकी जानकारी एनएचएआई के अफसरों को लगी तो दिल्ली और भोपाल से इस वसूली को रोकने के निर्देश जारी कर दिए गए।

 

ऐसे में 40 घंटे बाद टोल वसूली को रोक दिया गया। हालांकि तब तक छह लाख रुपए के करीब टोल की राशि वाहन चालकों से वसूली जा चुकी थी। अब एनएचएआई के आगामी आदेश जारी होने तक टाेल वसूली बंद रहेगी। इंदौर-अहमदाबाद नेशनल हाईवे के 155 में से केवल 139 किलोमीटर में ही काम पूरा हो पाया है। अधूरे 16 किलोमीटर के काम के बावजूद टोल कंपनी आईवीआरसीएल ने टोल वसूली शुरू कर दी थी।

इसकी जानकारी दिल्ली और भोपाल के अफसरों को लगी तो ताबड़तोड़ उन्होंने इस टोल वसूली को रोके जाने को लेकर आदेश जारी कर दिए। हालांकि तब तक 40 घंटे हो चुके थे और लगभग 6 लाख रुपए की टोल वसूली हो चुकी थी। वहीं, टोल वसूली शुरू करने के लिए एनएचएआई से कंपनी को अनुमति नहीं दी गई थी। इसके बावजूद कंपनी द्वारा टोल वसूली की जा रही थी।

 

वाहनों से इतना वसूला टोल : टोल प्लाजा का ठेका हैदराबाद की टाटा कंपनी को दिया है। इस टोल प्लाजा पर दोनों ओर तीन-तीन टोल बनाए हैं। इसका ठेका 18 साल के लिए दिया है। यहां पर कारों से 110, लोडिंग वाहन, मिनी बस से 170, बस मिनी, ट्रक से 345, मल्टी एक्सल वाहन, हेवी कंस्ट्रक्शन वाहनों से 530 और हेवी लोडेड वाहनों से 680 रुपए लिए गए। 
 

हमने टोल वसूली की स्वीकृति मांगी थी: आईवीआरसीएल कंपनी के डीजीएम कांति कुमार रेड्डी ने बताया हमने टोल चालू करने की स्वीकृति मांगी थी, लेकिन अभी तक नहीं मिली है। स्वीकृति आने से पूर्व हमने टोल चालू कर दिए थे। विधानसभा चुनाव के चलते कंटेम्प्ट आॅफ कोर्ट के चलते हमें 8 नवंबर की शाम 4.15 बजे टोल वसूली बंद करने का पत्र आया है। इसके बाद टोल वसूली बंद कर दी है।

Bhaskar Whatsapp
Click to listen..