--Advertisement--

ट्विटर पर ट्रैंड हो रही भय्यू महाराज की मौत की खबर, कई हस्तियों ने दी श्रद्धांजलि

भय्यू महराज ने अपने कमरे में खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली। उन्होंने जीवन से परेशान होने की बात लिखी है।

Danik Bhaskar | Jun 12, 2018, 05:29 PM IST
भय्यू महाराज ने खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली। भय्यू महाराज ने खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली।

इंदौर. अध्यात्मिक गुरु भय्यू महाराज (50) ने मंगलवार को स्प्रिंग वैली स्थित अपने घर पर गोली मारकर खुदकुशी कर ली। हॉस्पितल ले जाते समय उन्होंने रास्ते में ही दम तोड़ दिया था।भय्यू महाराज की मौत की खबर लगते ही अस्पताल में सैकड़ों लोग जमा हो गए। उधर, उनकी मौत की खबर ट्विटर पर ट्रैंड कर रही है। कई बड़ी हस्तियों ने उन्हें ट्वीट कर श्रद्धांजलि दी है। मप्र के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने उनकी मौत को अपूरणीय क्षति बताया है।

सीएम का ट्वीट...

-

राष्ट्रसंत श्री भय्यू जी महाराज के अवसान से उन अनगिनत लोगों को व्यक्तिगत क्षति हुई है, जिन्हें अपने आध्यात्मिक ज्ञान से उन्होंने जीवन जीने की राह दिखाई। नर्मदा सेवा मिशन से उनके जुड़ाव एवं पर्यावरण संरक्षण व सामाजिक कल्याण के क्षेत्र में किए गए कार्य को कभी नहीं भुलाया जा सकेगा।

- दूसरे ट्वीट पर कहा, संत भय्यूजी महाराज को सादर श्रद्धांजलि। देश ने संस्कृति, ज्ञान और सेवा की त्रिवेणी व्यक्तित्व को खो दिया। आपके विचार अनंत काल तक समाज को मानवता की सेवा के मार्ग पर चलने के लिए प्रेरित करेंगे।

केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने लिखा...

- संत भय्यू जी महाराज के आकस्मिक निधन के समाचार से स्तब्ध हूं। उन्हें आत्मीय श्रद्धांजलि

सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने लिखा..

- बहुत ही दुखद खबर है कि भय्यूजी महाराज अब हमारे बीच नहीं रहे। उनके निधन पर विनम्र श्रद्धांजलि।

मप्र कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष जीतू पटवारी ने लिखा...

- संत भय्यू जी महाराज के निधन की खबर से हतप्रभ हूं। भय्यू जी महाराज का जीवन सदैव समाज के हर वर्ग के विकास के लिए समर्पित रहा है। ईश्वर उनकी आत्मा को शांति प्रदान करे।

विधायक रमेश मेंदोला ने लिखा...

- पूज्य संत भय्यूजी महाराज को आत्मीय श्रद्धांजलि। उनके साथ बहुत लंबे समय तक कार्य करने का अवसर मिला। उनके इस कदम से दुखी और व्यथित हूं।

महाराष्ट्र की मंत्री पकंजा गोपीनाथ मुंडे ने लिखा...

- उनकी मौत की खबर सुनकर गहरा धक्का लगा है। वे हमारे परिवार के सदस्य की तरह थे।

सांसद महेश गिरी ने लिखा...

- सेवाभावी सन्त और आध्यात्मिक गुरु पूज्य भय्यू जी महाराज के आकस्मिक निधन के समाचार से स्तब्ध हूं। उनका जीवन समाज और राष्ट्र की सेवा को समर्पित था। परमात्मा उनकी दिव्यात्मा को अपने श्रीचरणों में स्थान दे व उनके परिवार और भक्तों को यह अपार दुःख सहने की शक्ति प्रदान करे। ॐ शांति

मप्र के मंत्री भूपेंद्र सिंह ने लिखा...
- संत श्री भय्यू जी महाराज के निधन की दुखद खबर मिली। आपके द्वारा समाज सुधार के लिए किए गए कार्य अविस्मरणीय रहेंगे । सादर श्रद्धांजलि- ओम शांति

सूरत विधायक हर्ष संघवी ने लिखा...

- भय्यू महाराज प्रेरणा के स्त्रोत थे। उनका निधन अत्यंत दुखद है। मैं उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं।

कौन थे भय्यू महाराज
- 1968 को जन्में भय्यू महाराज का असली नाम उदयसिंह देखमुख है। वे शुजालपुर के जमींदार परिवार से ताल्लुक रखते थे।
- कभी कपड़ों के एक ब्रांड के लिए मॉडलिंग कर चुके भय्यू महाराज का देश के दिग्गज पॉलिटिशियनों से गहरा संपर्क था।

- वे धार्मिक और सामाजिक कार्यों में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेने के लिए जाने जाते थे।

- सद्गुरु दत्त धार्मिक ट्रस्ट उनके ही देखरेख में चलता था। उनका मुख्य आश्रम इंदौर के बापट चौराहे पर है।

पहली पत्नी की मौत के दो साल बाद की थी दूसरी शादी
- भय्यू महाराज की पहली पत्नी माधवी का नवंबर 2015 में पुणे में निधन हो गया था। वे महाराष्ट्र के औरंगाबाद की रहने वाली थीं। पहली शादी से उनकी एक बेटी कुहू हैं, वो पुणे में पढ़ाई कर रही हैं।
- 30 अप्रैल 2017 को मध्यप्रदेश के शिवपुरी की डॉ. आयुषी के साथ दूसरी शादी की थी।


हाईप्रोफाइल लोगों से रहा था नाता
- भय्यू महाराज तब चर्चा में आए जब अन्ना हजारे के अनशन को खत्म करवाने के लिए तत्कालीन केंद्र सरकार ने उन्हें अपना दूत बनाकर भेजा था। बाद में अन्ना ने उनके हाथ से जूस पीकर अनशन तोड़ा था।
- पीएम बनने के पहले गुजरात के मुख्यमंत्री के रूप में मोदी सद्भावना उपवास पर बैठे थे। तब उपवास खुलवाने के लिए उन्होंने भय्यू महाराज को आमंत्रित किया था।
- पूर्व प्रेसिडेंट प्रतिभा पाटिल, पीएम नरेंद्र मोदी, महाराष्ट्र के पूर्व सीएम विलासराव देशमुख, शरद पवार, लता मंगेशकर, उद्धव ठाकरे और मनसे के राज ठाकरे, आशा भोंसले, अनुराधा पौडवाल भी उनके आश्रम आ चुके हैं।

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर दी श्रद्धांजलि। सीएम शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर दी श्रद्धांजलि।