मध्यप्रदेश / सोशल मीडिया पर खजराना गणेश और रणजीत हनुमान, रोज देश-विदेश के 27 हजार से ज्यादा भक्त करते हैं दर्शन

Dainik Bhaskar

Feb 12, 2019, 06:43 AM IST


Tribute to Khajraana Ganesh and Ranjit Hanuman online
X
Tribute to Khajraana Ganesh and Ranjit Hanuman online
  • comment

  • दोनों मंदिरों के 124 वाट्सएप ग्रुप, फेसबुक और इंस्टाग्राम पर अभी आरती के वीडियो किए जाते हैं अपलोड
  • जल्द आरती का होगा लाइव प्रसारण 

अमित सालगट,  इंदौर . वाट्सएप, फेसबुक और इंस्टाग्राम सहित अन्य सोशल मीडिया के जरिये रोज 27 हजार से ज्यादा देश-विदेश के भक्त खजराना गणेश और रणजीत हनुमान के दर्शन करते हैं। रणजीत हनुमान मंदिर के प्रशासक व एसडीएम रवि कुमार सिंह व मुख्य पुजारी दीपेश व्यास ने बताया कि सोशल मीडिया पर 2014 से रणजीत हनुमान मंदिर एक्टिव है।

 

सोशल मीडिया के माध्यम से भक्त भगवान के दर्शन करने के साथ ही यहां होने वाले आयोजन की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। यहां होने वाली आरती भी लाइव की जाएगी।

 

  • 75 ग्रुप वाट्स एप पर, हर ग्रुप में 250 भक्त, यानी साढ़े 18 हजार से ज्यादा भक्त
  • 54 हजार से ज्यादा फेसबुक पर, 1 हजार भक्त इंस्टाग्राम पर
  • 49 वाट्सएप ग्रुप के जरिये 12 हजार से ज्यादा भक्त वाट्सग्रुप पर
  • 13 हजार से ज्यादा देश-विदेश के भक्त एफबी पर, 2500 से ज्यादा भक्त इंस्टाग्राम पर

 

बल्क मैसेज के माध्यम से चार हजार भक्तों को भेजी जाती है आयोजन की सूचना : वाट्सएप पर 49 ग्रुप जय रणजीत भक्त मंडल व जय रणजीत महिला भक्त मंडल के नाम से एक्टिव हैं। 32 ग्रुप पुरुषों के और 17 ग्रुप महिलाओं के हैं। हर ग्रुप में 250 भक्त जुड़े हैं। इस प्रकार 49 ग्रुपों से 12 हजार से ज्यादा भक्त जुड़े हैं।

 

इन ग्रुपों में एडमिन ही पोस्ट कर सकता है। रोज सुबह व शाम को शृंगार के बाद भगवान के फोटो इस पर अपलोड किए जाते हैं। फेसबुक पर करीब 13 हजार से ज्यादा भक्त जुड़े हैं। वहीं इंस्टाग्राम पर ढाई हजार से ज्यादा भक्त जुड़े हैं। पं. व्यास ने बताया कि बल्क मैसेज के माध्यम से भी चार हजार भक्तों को मंदिर में होने वाले आयोजन से जुड़ी जानकारी भेजी जाती है। फेसबुक व इंस्टाग्राम पर मंदिर में होने वाली आरती के वीडियो भी कई बार अपलोड किए जाते हैं।

 

श्रद्धालु ऐसे जुड़ सकते हैं वाट्सएप ग्रुप से : पं. व्यास ने बताया कि मंदिर के बाहर बोर्ड है, जिस पर वाट्सएप नंबर के साथ ही फेसबुक और वाट्सएप की लिंक लिखी हैं। वाट्सएप ग्रुप से जुड़ने के लिए संबंधित व्यक्ति को उस नंबर पर मैसेज कर ग्रुप से जुड़ने के संबंध में जानकारी देना होती है। मंदिर में होने वाले कई आयोजनों में भक्त मंडल भी नए भक्तों को जोड़ने के लिए नि:शुल्क फॉर्म भरवाता है।

 

खजराना गणेश मंदिर का फेसबुक पेज : खजराना गणेश मंदिर के पुजारी अशोक भट्ट ने बताया कि खजराना गणेश मंदिर का फेसबुक पेज हाेने के साथ-साथ इंस्टाग्राम, ट्विटर पर भी अकाउंट है। साथ ही वाट्सएप पर 55 ग्रुप बने हैं। जिस पर रोज खजराना गणेश के शृंगार व आरती के बाद भगवान का फोटो वाट्सएप ग्रुप पर पोस्ट किया जाता है।

 

 

COMMENT
Astrology
Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन