साइबर अपराध / 12 लाख की ठगी में शामिल युवती को साइबर सेल उज्जैन लाई, 10 रुपए में फर्जी रजिस्ट्रेशन कर देती थी धोखा

Dainik Bhaskar

Mar 16, 2019, 05:16 PM IST


गजल कंपनी में टीम लीडर थी। गजल कंपनी में टीम लीडर थी।
X
गजल कंपनी में टीम लीडर थी।गजल कंपनी में टीम लीडर थी।
  • comment

उज्जैन साइबर सेल पूछताछ के लिए युवती को प्रोटेक्शन वारंट पर भोपाल से लेकर आई 

उज्जैन. अलग-अगल शहरों में जाॅब के नाम पर लोगों के साथ ठगी करने वाले गिरोह की एक महिला सदस्य को उज्जैन सायबर सेल प्रोटेक्शन वारंट शनिवार केा लेकर आई। कंपनी में टीम लीडर के रूप में काम करने वाली यह युवती जॉब के लिए फर्जी रजिस्ट्रेशन करवाती थी। रजिस्ट्रेशन के लिए मात्र 10 रुपए का शुल्क कार्ड से पेमेंट करवाते थे, लेकिन पेमेंट करते ही आवेदक के खाते से 10 हजार रुपए गायब हो जाते थे। इस प्रकार इन्होंने देशभर के युवाओं से 12 लाख से अधिक की ठगी की है।

 

उज्जैन साइबर सेल पूछताछ के लिए भोपाल से युवती को लेकर आई।

 

सायबर सेल अधिकारी नरेंद्र गोमे ने बताया कि देशभर में अपनी फर्जी वेबसाइट WWW. INEDREAMJOB. COM के जरिए ये लोग जॉब दिलवाने के नाम पर ठगी करते थे। 18 जुलाई 2018 को उज्जैन के एक युवक ने फर्जी वेब साइट के जरिए ठगी की शिकायत की। इसके बाद पड़ताल में विशाल गोस्वामी को गिरफ्तार किया गया। उसकी निशानदेही पर दिल्ली निवासी शातिर युवती गजल शाहना को गिरफ्तार किया गया। इसमें मुख्य आरोपी सोनल ठाकुर और एक डागर जो कि अभी फरार हैं।

मुख्य आरोपी सोनल ने पूरी कंपनी बनाई थी, जिसमें गजल टीम लीडर थी, जिसके नीचे छह लोग काम करते थे। रजिस्ट्रेशन के बाद जब लोगों के रुपए कटने की शिकायत आती तो ये उन्हें भ्रमित करते थे।

 

ह

 

 

मामला कायम होने के बाद से ही सभी आरोपी फरार चल रहे थे। इस वेबसाइट को इस प्रकार से डिजाइन करवाया गया था कि 10 रुपए लिखने पर 10 हजार रुपए बैंक से कट जाया करते थे। शनिवार को पुलिस गजल को पूछताछ के लिए भोपाल जेल से प्रोटेक्शन वारंट पर उज्जैन लेकर आई है। फिलहाल साइबर सेल के अधिकारी गजल से उज्जैन और आसपस के क्षेत्रों में की गई ठगी के बारे में जानकारी निकाल रही है।

 

COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन