जम्मू-कश्मीर, बंगाल, केरल और असम पर संघ का फोकस, बढ़ाएंगे नेटवर्क

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का जोर अब शाखाओं को बढ़ाने पर रहेगा। - Dainik Bhaskar
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का जोर अब शाखाओं को बढ़ाने पर रहेगा।
  • संघ से जुड़े संगठनों का कार्यक्षेत्र ग्रामीण अंचल तक फैलाएंगे
  • मोदी सरकार की राष्ट्रवादी नीतियों व कार्यों की प्रशंसा

इंदौर ण् राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का जोर अब शाखाओं को बढ़ाने पर रहेगा। युवा, महिलाओं, छात्रों को जोड़ने के साथ वनवासी परिवार में संघ का दायरा बढ़ाया जाएगा। इसके अलावा जम्मू-कश्मीर, लद्दाख, केरल, पश्चिम बंगाल और असम में संघ का नेटवर्क बढ़ाया जाएगा। यह निर्णय रविवार को एक निजी गार्डन में संघ प्रमुख मोहन भागवत की मौजूदगी में चल रही संघ की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में लिया गया।


बैठक में नरेंद्र मोदी सरकार की राष्ट्रवादी नीतियों और कार्यों की प्रशंसा की गई और संघ व उससे जुड़े वैचारिक संगठनों का कार्यक्षेत्र ग्रामीण अंचल तक फैलाने का फैसला हुआ। एक अहम निर्णय सहकार्यवाह की संख्या बढ़ाने और भाजपा सहित अन्य अनुषंगी संगठनों में और प्रचारकों को भेजने का रहा। राम मंदिर पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद ट्रस्ट के गठन और उसमें संघ व विहिप की भूमिका पर भी बात हुई।

तीन बिंदुओं पर बात... समस्या, समाधान और समन्वय
पहले दिन संघ प्रमुख भागवत और सरकार्यवाह भैयाजी जोशी ने प्रांतों के पदाधिकारियों से चर्चा की। परेशानियां पूछीं और समाधान भी मांगा। राष्ट्रीय पदाधिकारियों के साथ संघ प्रमुख की अलग से चर्चा हुई। इस दौरान तीन बिंदुओं पर फोकस रहा। पहला, संबंधित राज्य में संघ को आ रही परेशानियों को जानना और समाधान, दूसरा संघ के विस्तार के लिए सालभर काम और तीसरा समाज में कैसे समन्वय स्थापित किया जाए।

अब बाढ़- भूकंप नहीं... रोजमर्रा की समस्याओं पर भी काम करेगा संघ

  • असम, केरल और पश्चिम बंगाल जैसे राज्यों में आ रही परेशानियों को दूर करने के लिए संघ के वरिष्ठ पदाधिकारियों के दौरे होंगे। शाखा संचालन और विस्तार के लिए लगातार काम होगा।
  • संघ सिर्फ बाढ़, भूकंप, सूखा या बड़े हादसे के दौरान ही सेवा कार्यों को सीमित नहीं रखेगा। समाज की दिन-प्रतिदिन की समस्याओं के निराकरण में भी संघ अहम भूमिका निभाएगा। {देशभर में शाखाओं का ज्यादा विस्तार होगा।
  • आदिवासी अंचल में नई शाखाएं शुरू होंगी। हर वर्ग को जोड़ा जाएगा। कार्य का विस्तार करेंगे।
  • आम आदमी से सीधे जुड़ाव के लिए संघ परंपरा में बदलाव करने की सोच रहा है। ये बदलाव बड़े स्तर पर होंगे।

बैठक में पहुंचे भाजपा संगठन महामंत्री
भाजपा के राष्ट्रीय संगठन महामंत्री बीएल संतोष रविवार देर रात बैंगलुरु से इंदौर पहुंचे। वे सीधे संघ के बैठक स्थल रवाना हो गए। सोमवार से वे बैठक में भाजपा के प्रतिनिधि के तौर पर शामिल होंगे। ऐसी संभावना है कि अगले दो दिन सीएए के अलावा दिल्ली और बिहार के चुनाव पर चर्चा हो सकती है।

खबरें और भी हैं...