मोबाइल चेटिंग / विवाद को पत्नी ने दहेज प्रताड़ना में बदला, पोती के बयान पर दादी, बुआ को मिली अग्रिम जमानत



Women jailed in dowry torture got anticipatory bail
X
Women jailed in dowry torture got anticipatory bail

  • दंपत्ति की छह साल बेटी ने कोर्ट में बयान दिया कि मोबाइल पर चेटिंग को लेकर मम्मी, पापा झगड़ते थे

Dainik Bhaskar

Nov 10, 2019, 05:11 PM IST

इंदौर. जिला व सत्र न्यायालय ने छह साल की पोती के बयान पर बहू द्वारा कराई गई दहेज प्रताड़ना की शिकायत पर दादी, पिता, बुआ को अग्रिम जमानत दी है। दरअसल, पत्नी मोबाइल पर चेटिंग करती थी। पति उसे रोकता था तो विवाद होता था। इससे तंग आकर पत्नी ने दहेज प्रताड़ना की शिकायत कर दी। जबकि सास, और ननद इस दंपत्ति से अलग रहते थे। दंपत्ति की छह साल बेटी ने कोर्ट में बयान दिया कि मोबाइल पर चेटिंग को लेकर मम्मी, पापा झगड़ते थे। 


अधिवक्ता केपी माहेश्वरी के मुताबिक नैतिक का विवाह जया से 2011 में हुआ था। दंपत्ति परिवार से अलग रहते थे। दोनों की दो बेटियां भी है। शादी के आठ साल बाद जया ने दहेज प्रताड़ना का केस दर्ज कराया। इसमें उल्लेख किया कि सास वंदना, ननद श्रुति दहेज के लिए मारपीट करती हैं। जान से मारने की धमकी देती है। दो बेटियां होने पर तानाकशी करती हैं। जांच के बाद पुलिस ने तीनों पर केस दर्ज कर लिया। इस पर अग्रिम जमानत के लिए अर्जी दायर की गई थी।

 

दंपत्ति की छह साल की बेटी भाव्या ने कहा कि चेटिंग को लेकर झगड़ा होता था। दादी और बुआ तो अलग रहते हैं। दादी की सरकारी नौकरी है तो बुआ की शादी हो गई है। कोर्ट को यह भी बताया कि दादी ने ही बेटियों के नाम बीमा पाॅलिसी की है। स्कूल फीस भी वही भरती हैं। कोर्ट ने इस पर अग्रिम जमानत का लाभ तीनों को दिया।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना