--Advertisement--

इंदौर : महिला ने लिखाई गैंगरेप की रिपोर्ट, पुलिस जांच में मामला फर्जी

पति को बचाने के लिए महिला ने रचा षड्यंत्र, कहा 2016 में हुई थी घटना।

Dainik Bhaskar

Jul 12, 2018, 06:36 PM IST
Women report of gang rap, Fake case in police investigation

इंदौर। एक महिला ने दो साल पहले इंदौर की एक होटल में अपने साथ गैंगरेप होने की रिपोर्ट पुलिस थाने में दर्ज कराई। गैंगरेप की घटना होने से पुलिस ने भी तुरंत कार्रवाई कर आरोपियों की धरपकड़ प्रारंभ की। लेकिन पुलिस जांच में मामला फर्जी साबित हुआ। अब पुलिस महिला पर कार्रवाई करने की बात कह रही है।


- छोटी ग्वालटोली पुलिस थाने में एक महिला ने सिमरन कंपनी के मालिक शराब ठेकेदार हरपाल सिंह भाटिया उर्फ मोनू, अभिमन्यु तिवारी, इंद्रजजीत सिंह और सुग्रीम विष्णोई के खिलाफ गैंगरेप का केस दर्ज कराया था। महिला ने अपनी रिपोर्ट में बताया था कि 27 जून 2016 को उक्त आरोपी उसे उठाकर भाटिया की मधुमिलन चाौराहा आरएनटी मार्ग स्थित सिमरन होटल में ले गए आैर रेप किया।


- मामले की जानकारी उन्होंने डीजीपी को दी, और उन्हें सबूत उपलब्ध कर यह बताया की उन्हें फंसाया जा रहा है। इस पर डीजीपी ने एडीजी अजय शर्मा को मामले की जांच कर कार्रवाई करने को कहा। भाटिया ने डीजीपी और इंदौर पुलिस को दस्तावेज दिए। दस्तावेजों के अनुसार घटना वाले दिन अर्थात 27 जून 2016 को भाटीया हांगकांग में थे। उसके पास पासपोर्ट में इंट्री और वीजा भी है।


- इस मामले में टीआई आारके सिंह का कहना है कि गैंगरेप की रिपोर्ट करने वाली महिला के पति के खिलाफ गबन का केस दर्ज है। पहली नजर में यह मामला झूठा लग रहा है, उसने पति को बचाने के लिए कहानी रची है।


यह कहानी आई सामने
पुलिस ने बताया कि महिला का पति मुकेश छीपा सिमरन ग्रुप का अकाउंटेंट था। उसने 2016 में 70 लाख रुपए का गबन किया था। सिमरन ग्रुप ने उसके खिलाफ खंडवा के नर्मदा नगर थाने में केस दर्ज कराया था। पुलिस की जांच में यह बात भी सामने आई की महिला पहले भी खंडवा में इसी तरह की शिकायत कर चुकी है।


यह है कानून
अपराध की झूठी रिपोर्ट लिखाना भी अपराध है। जांच में यदि आरोप गलत पाया जाता है तो पुलिस खारिजी पेश करती है साथ ही धारा 182, 211 में इस्तगाशा पेश किया जाता है। कोर्ट के आदेश पर गलत रिपोर्ट लिखाने वाले फरियादी के खिलाफ केस दर्ज किया जाता है।

X
Women report of gang rap, Fake case in police investigation
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..