सुसाइड / मायके वालों ने पहले प्रेमी को जिम्मेदार ठहराया, फिर ससुराल पक्ष पर प्रताड़ना का आरोप लगाया



Women's suicide case, accusation of harassment on in-laws' side
X
Women's suicide case, accusation of harassment on in-laws' side

  • पोस्टमॉर्टम कराने के दौरान नवविवाहिता के चाचा और अन्य परिजनों ने ब्लैकमेलर प्रेमी को जिम्मेदार ठहराया
  •  परिजनों द्वारा बयान बदलने से पुलिस भी हैरान, दोनों बिंदुओं पर जांच करने की बात कही

Dainik Bhaskar

Jul 12, 2019, 06:14 PM IST

इंदौर. मायके वालों के आरोप के बाद पुलिस ने एक नवविवाहिता की आत्महत्या मामले में उसके पति, सास-ससुर व देवर के खिलाफ प्रताड़ना का केस दर्ज किया है। वहीं परिजन ने घटना के बाद एक युवक को महिला का प्रेमी बताकर ब्लैकमेल करने का आरोप लगाया था। अब पुलिस प्रेमी वाले बिंदू पर भी जांच करेगी।

 

विजयनगर पुलिस के अनुसार 25 जून की रात को कल्प कामधेनू नगर में रहने वाली 22 वर्षीय सीमा करोले ने फांसी लगा ली थी। उसके मायके वालों के बयान के आधार पर पति कैलाश, ससुर तेजराम, सास निर्मला और देवर कमलेश के खिलाफ प्रताड़ना व दहेज का केस दर्ज किया है। जबकि 26 जून को सीमा के पोस्टमॉर्टम के दौरान उसके चाचा कालू भालसे व देवर कमलेश ने रनगांव के पप्पू भालसे पर ब्लैकमेलिंग का आरोप लगाया था।

 

बताया था कि पति से विवाद के बाद जब सीमा पीथमपुर स्थित मायके गई तो वहां पप्पू से उसका प्रेम हो गया। 6 महीने बाद परिजन उसे वापस ससुराल ले आए। कुछ दिन बाद पप्पू भी उसी के पास कमरा लेकर किराए से रहने लगा था। उसने मोबाइल पर सीमा के कई अश्लील वीडियो बना लिए थे। इसके आधार पर वह उसे ब्लैकमेल कर रहा था। घटना के 15 दिन पहले पप्पू सीमा को लेकर भाग गया था। उसने विदिशा में सीमा के जेवर भी गिरवी रख दिए थे।

 

19 जून को परिजन सीमा को पकड़कर इंदौर ले आए थे। सीमा की गुमशुदगी के मामले में विजयनगर पुलिस ने पप्पू के खिलाफ धारा 151 के तहत कार्रवाई की थी। परिजन का आरोप था कि 24 की सुबह पप्पू फिर सीमा के घर आया था और उसे धमकाकर गया था। उधर, जांचकर्ता एसआई एसएस चौहान का कहना है कि वे भी मायके वालों के बयान से हैरान हैं। हालांकि उन्होंने जो बयान दिए हैं, उसी आधार पर कार्रवाई की गई है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना