• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Itarsi News
  • लगेज स्केनर खराब, डोर फ्रेम डिटेक्टर लगाया वो भी बंद, चलता रहा दिखावा
--Advertisement--

लगेज स्केनर खराब, डोर फ्रेम डिटेक्टर लगाया वो भी बंद, चलता रहा दिखावा

होली पर घर जाने वाले यात्रियों की भीड़ इटारसी जंक्शन पर है। लेकिन सुरक्षा व्यवस्था ऐसी की गई है जिसकी खामी साफ दिख...

Danik Bhaskar | Mar 02, 2018, 03:30 AM IST
होली पर घर जाने वाले यात्रियों की भीड़ इटारसी जंक्शन पर है। लेकिन सुरक्षा व्यवस्था ऐसी की गई है जिसकी खामी साफ दिख रही है। लगेज स्केनर सात माह से बंद है जिसकी मरम्मत स्टेशन प्रबंधन होली के पहले भी नहीं करवा पाया। स्केनर बंद होने पर बाजू में आरपीएफ ने डोर फ्रेम डिटेक्टर लगाया वो भी बंद था। गुरुवार को हजारों यात्री जंक्शन के सात प्लेटफार्मों पर पहुंचे लेकिन इनके लगेज की जांच का दिखावा चलता रहा। दावा यह किया गया कि आरपीएफ व जीआरपी कर्मी यात्रियों पर कड़ी नजर रख रहे हैं।

बंद पड़े लगेज स्कैनर के पास आरपीएफ ने चैकिंग के लिए लगाई डोर फ्रेम डिटेक्टर (डीएफएमडी) लगा रखा है। जो गुरुवार दोपहर के समय बंद था। इस बीच हजारों यात्री अपना लगेज लेकर इस डोर फ्रेम से निकल गए। जबकि पर्व-त्योहार विशेषकर होली पर विशेष सतर्कता इसलिए बरती जाती है कि स्टेशन की सुरक्षा व्यवस्था में कई बार सेंध लग चुकी है।

इटारसी स्टेशन और यहां आने वाले ट्रेन में बम होने की धमकियां मिलने, अवैध हथियार के तस्करों के पकड़ाने व एक आतंकी के भागने की घटना हो चुकी है। पिछले सप्ताह में ही ट्रेनों के एसी कोच में चोरी की तीन-चार बड़ी घटनाएं हुई हैं। एसी कोच के अलग-अलग यात्रियों को लाखों रुपए रखे जेवरातों की चपत लगी है। इसके बावजूद स्टेशन पर ट्रेन, यात्री व यात्रियों के सामान के प्रति सुरक्षा को लेकर इंतजाम न दिखना सुरक्षा प्रबंध पर प्रश्नचिह्न है।

एफओबी के पास बैग स्कैनर खराब है। बिना चैकिंग के निकलते रहे यात्री।

सात माह में ठीक नहीं हो सका स्केनर

स्टेशन पर लगेज स्कैनर लगा है। तकनीकी गड़बड़ी होने से वह 7 माह से बंद पड़ा है। एक-दो बार मरम्मत करने इंजीनियर भी अाए लेकिन सुधार नहीं पाए। इसकी जगह आरपीएफ ने डीएफएमडी लगाई। वह भी बंद हो रही है। जीआरपी के पास मेटल डिटेक्टर है जो काम नहीं कर रहा। पहले हैंड हेल्ड मेटल डिटेक्टर से चेकिंग होती थी लेकिन वह भी नहीं है।

कई बार हो चुकी हैं घटनाएं

इटारसी प्रदेश का सबसे बड़ा रेलवे जंक्शन है। यहां से रोजाना 130 के लगभग यात्री ट्रेनेंे निकलती हैं। 10 से 12 घंटे के अंदर इटारसी से दिल्ली, मुंबई सहित राजस्थान, यूपी, बिहार की सीमाओं में जा सकते हैं। जनवरी 2015 में आंध्रप्रदेश पुलिस हिरासत से एक आतंकी गतिविधियों का आरोपी ट्रेन से कूदकर भाग चुका है। वर्ष 2016 में पिस्तौल की तस्करी, गांजा तस्कर व मानव तस्करी करते भी आरोपियों को पकड़ा गया।