Hindi News »Madhya Pradesh »Itarsi» 40 मिनट में 1.25 अरब रुपए का बजट पास, बिना पढ़े पार्षदों ने किए दस्तखत

40 मिनट में 1.25 अरब रुपए का बजट पास, बिना पढ़े पार्षदों ने किए दस्तखत

नगरपालिका परिषद ने शनिवार को 23 से 40 मिनट की औपचारिक बहस के साथ अब तक का सबसे बड़ा सवा अरब का सालाना बजट पास कर दिया। एक...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 01, 2018, 05:20 AM IST

40 मिनट में 1.25 अरब रुपए का बजट पास, बिना पढ़े पार्षदों ने किए दस्तखत
नगरपालिका परिषद ने शनिवार को 23 से 40 मिनट की औपचारिक बहस के साथ अब तक का सबसे बड़ा सवा अरब का सालाना बजट पास कर दिया। एक घंटे तक बजट बैठक इसलिए रुकी रही कि पार्षदों के नहीं आने से कोरम पूरा नहीं हो रहा था। तब उन्हें फाेन करके बजट बैठक में जल्दी आने का आग्रह किया गया। नपा में सभापति सहित 34 पार्षद हैं। जब बजट पास हो रहा था तब आधे पार्षद ही सदन में थे। कुछ पार्षद श्रद्धांजलि सभा में गए थे। तो कुछ मंदिरों में हनुमान जन्मोत्सव मनाने में व्यस्त थे। जो बाकी बचे वे उदासीनता के चलते नहीं आए। हालांकि बाद में कुछ महिला-पुरुष पार्षद केवल दस्तखत करने आए। कुछ देर बैठे और चले। एक-दो पार्षदों काे छाेड़कर किसी ने बजट पर कोई सवाल नहीं किया। खास बात यह रही कि मुख्यमंत्री अधोसंरचना विकास योजना में नालों के निर्माण के लिए 3 करोड़ रुपए स्वीकृत हुए। उसके टेंडर भी निकल गए। इसमें नपा का भी 20 फीसदी अंश रहता है। इसका प्रावधान बजट में करना भूल गए। इससे यह काम अटक जाता जीएल कोड नहीं मिलने पर साफ्टवेयर भुगतान नहीं करता। सभापति भरत वर्मा की अापत्ति पर सीएमओ ने बजट में संशोधन करने को कहा।

चुनावी वर्ष के पहले नगरपालिका का यह ऑनलाइन बजट है। इसे फाइनेंस मॉडूयल फार्मेंट में जीएल कोड में तैयार किया गया। इस सत्र में सामग्री की खरीदी जीईएम के माध्यम से होगी। इसमें कोई नया टैक्स नहीं लगाने का दावा किया है। प्रस्तावित व्यय पर अनुमानित आय का पलड़ा भारी होने से 94 हजार रुपए के लाभ (बचत) का लोक लुभावन बजट लाया गया है।

ये सब भी जानें

आवास योजना (25 करोड़ रु.):

प्रधानमंत्री आवास योजना में बीएलसी कैटेगरी के लिए बजट में 1000 आवासों की कार्ययोजना प्रस्तावित है। लगभग 25 करोड़ रुपए का प्रस्ताव लाया गया। इसके अलावा अवैध कॉलोनियों का सर्वे करने की योजना है।

पीने का पानी (20 करोड़ रु.): जल आवर्धन योजना पूरी हाेने के बाद पानी को घरों तक पहुंचाने डिस्ट्रीब्यूशन लाइन के लिए बजट में 20 करोड़ रुपए का प्रावधान है। मेन लाइन के लिए 4.44 करोड़ रखे गए।

ड्रेनेज सिस्टम (9 करोड़ रु.): वार्डों में नालियां व बड़े नालों के निर्माण कार्य के लिए सीएम अधोसंरचना विकास योजना का प्रस्ताव अनुमोदित है। नालियों को बनाने पर 8 करोड़ रु. और और ढंकने पर 1 करोड़ का प्रावधान है।

सड़क (5 करोड़ रु.) : मुख्य मार्गों को धूलमुक्त करने डामरीकरण की योजना है। सड़क निर्माण पर 5 करोड़ रु. खर्च होंगे।

पार्क 1 करोड़ रु. :

विभिन्न वार्डों में पार्क विकसित करने बजट में एक करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है। न्यास कालोनी सतरस्ता से आदर्श रोड के लिए भी राशि रखी है। इसमें पार्क, जाली, पेवर्स ब्लाक, लाइट लगाए जाएंगे।

कचरा प्रबंधन 1 करोड़ रु. : 2018 में शहर पुन: ओडीएफ घोषित हो गया। गार्बेज कंटेनर खरीदा जाएगा। वाहन खरीदी मद में 1 करोड़ रुपए का प्रावधान है। स्वच्छता के लिए वाहन, दमकल शामिल हैं। ट्रेचिंग ग्राउंड का विकास कार्य वित्तीय वर्ष में प्रस्तावित है।

ऐसे बढ़ाएंगे आय

पेयजल के नल कनेक्शन बढ़ाने का प्रस्ताव है। जीआईएस सर्वे पर आधारित करों की वसूली का प्रस्ताव रखा गया। परिषद ने अपील की है कि वे करों का भुगतान समय सीमा में करें।

मद राशि मद राशि

चुंगी क्षतिपूर्ति 15 करोड़ रु.

प्रापर्टी टैक्स 2.55 करोड़ रु.

बकाया 51.40 लाख रु.

शहरी विकास कर 63.88 लाख रु.

बकाया 16.63 लाख रु.

समेकित कर 28.46 लाख रु.

ई निविदा शुल्क 17.90 लाख रु.

बैंक से प्राप्त ब्याज 24 लाख रु.

बाजार किराया 16.80 लाख रु.

दैनिक बाजार कर 2050 लाख रु.

पक्का बाजार किराया 1.57 करोड़ रु.

भवन, दुकान िबक्री, प्लाट की नीलामी 25.34 करोड़ रु.

जल कर 58 लाख रु.

धरोहर राशियां 2 करोड़ रुपए।

सड़क मरम्मत अनुदान 1 करोड़ रु.

14वां वित्त आयोग का सहायक अनुदान 4 करोड़ रु.

राज्य वित्त आयोग से अनुदान 1.20 करोड़ रु.

सांसद निधि 50 लाख रु.

विधायक निधि 1 करोड़ रु.

सीएम अधोसंरचना 2 करोड़ रु.

निर्यात कर अनुदान 2 करोड़ रु.

शासन से अनुदान 4.90 करोड़ रु.

प्रमं. आवास योजना 25 करोड़ रु.

ये प्रावधान भी

पुलिया निर्माण 1 करोड़ रु.

बस स्टैंड 4 करोड़ रु.

तालाब 1 करोड़ रु.

जल शुद्धिकरण 15 लाख रु.

आॅडिटोरियम 50 लाख रु.

गांधी मिनी स्टेडियम को विकसित व अाधुनिक बनाया जाएगा।

एक घंटे तक कोरम अधूरा रहा, फोन कर पार्षदों को बुलवाया

नपा का सालाना बजट प्रस्तुत करने सामान्य सम्मेलन का समय सुबह 11 बजे तय था। घंटे-भर तक कोरम ही पूरा नहीं हो सका। जैसे-तैसे पार्षदों को फोन कर बुलवाया गया। 34 में से 18 पार्षद आए। एक-दो ने सामान्य सवाल किए। महिला पार्षदों ने कुछ नहीे पूछा।

12:00 बजे : एक पार्षद महेश आर्य ने कहा वित्तीय अधिकार तो हमें हैं नहीं, बस वार्ड में इतने काम करवा देना कि जनता नाराज न रहे। वे नपाध्यक्ष व सीएमओ से बोले-हनुमान जयंती पर बजट लाए, साल भर भगवान मनोकामना पूरी करेंगे।

12:05 बजे : 17-18 पार्षदों की हाजिरी लगने पर बजट पर चर्चा शुरू हुई। सीएमओ अक्षत बुंदेला ने आधे पार्षद गैरहाजिर रहने पर सफाई दी कि नगर भाजपा अध्यक्ष के परिवार में श्रद्धांजलि सभा में गए हैं। कुछ देर में आ जाएंगे।

12:11 बजे : नपाध्यक्ष सुधा अग्रवाल ने बजट पर भाषण में आश्वस्त किया कि कोई नया कर नहीं लगा है। सभी 34 वार्डों में जो काम अधूरे रहे गए उन्हें यह बजट पूरा करेगा। अध्यक्ष ने 9 मिनट के भाषण में यह भी बताया कितने का बजट है। कहां-कहां राशि खर्च होगी।

12:20 बजे : कुछ पार्षद नपाध्यक्ष का भाषण होने के बाद आए। जो पहले से बैठे थे उनमें कुछ उठकर चले गए। बजट फोल्डर न तो पूरा पढ़ा न ही कोई सवाल पूछा। एक सभापति ने कहा बजट की राशि का चार्ट इतने स्माल फोंट में है कि कुछ समझ नहीं आया।

12:38 बजे : नपा उपाध्यक्ष अरूण चौधरी के वक्तव्य के बाद सभापति राकेश जाधव ने सुझाव रखा कि बजट में दीनदयाल रसोई योजना को शामिल करना था। इसमें पांच रुपए में जरूरतमंदाें को खाना मिलता। इस पर सीएमओ बोले, हम राज्य शासन से पत्राचार करेंगे। उम्मीद है फंड सेंक्शन हो जाएगा।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Itarsi

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×