--Advertisement--

8 बाल मजदूरों के बयान आज सीडब्ल्यूसी के सामने होंगे

28 मार्च को इटारसी स्टेशन पर मिले थे बच्चे भास्कर संवाददाता | इटारसी बिहार के 8 नाबालिग बच्चों के बयान सोमवार को...

Danik Bhaskar | Apr 02, 2018, 05:25 AM IST
28 मार्च को इटारसी स्टेशन पर मिले थे बच्चे

भास्कर संवाददाता | इटारसी

बिहार के 8 नाबालिग बच्चों के बयान सोमवार को बाल कल्याण समिति (सीडब्ल्यूसी) के समक्ष होंगे। ये बच्चे इटारसी रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर 6-7 पर 28 मार्च की रात ट्रेन का इंतजार करते मिले थे। इन बच्चों से पूछताछ करने पर यह खुलासा हुआ कि गुरमखेड़ी में नहर का काम करवाने इन्हें बिहार से लाया गया था।

पगार नहीं मिलने पर ये बच्चे भाग निकले और इटारसी स्टेशन आ गए जहां से वे अपने गांव जाना चाह रहे थे। उक्त बच्चों को चाइल्ड लाइन की सूचना पर जीवोदय संस्था में रखा गया है। इनकी उम्र 14 से 17 वर्ष तक है। साेमवार को इनके बयान होंगे। बच्चे अगर जबरदस्ती नहर ठेकेदार द्वारा काम कराने की बात कहते हैं तो उस व्यक्ति के खिलाफ कार्रवाई होगी जो इन बच्चों को बिहार से मजदूरी के लिए यहां लेकर आया था। चाइल्ड लाइन व जीवोदय संस्था के कार्यकर्ताओं ने कुछ बच्चों के परिजनों से भी संपर्क किया। सभी बच्चे गरीब व मजदूर परिवार से हैं। परिजनों ने बच्चों को लेने आने के लिए कहा। लेकिन रविवार तक परिजन नहीं आए हैं।