• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Itarsi
  • बेटे के सामने चरित्र के शक में कुल्हाड़ी से पत्नी का गला काटा
--Advertisement--

बेटे के सामने चरित्र के शक में कुल्हाड़ी से पत्नी का गला काटा

Dainik Bhaskar

May 01, 2018, 03:00 AM IST

Itarsi News - छीतापुरा में एक आदिवासी ने 7 साल के पुत्र के सामने कुल्हाड़ी मारकर प|ी की हत्या कर दी। कुल्हाड़ी से 4 वार गर्दन, चेहरे व...

बेटे के सामने चरित्र के शक में कुल्हाड़ी से पत्नी का गला काटा
छीतापुरा में एक आदिवासी ने 7 साल के पुत्र के सामने कुल्हाड़ी मारकर प|ी की हत्या कर दी। कुल्हाड़ी से 4 वार गर्दन, चेहरे व सिर पर किए। इससे प|ी लक्ष्मीबाई (30) जमीन पर गिर गई। पुलिस ने आरोपी रमेश पिता चतरू धुर्वे (35) को गिरफ्तार कर हत्या में प्रयुक्त कुल्हाड़ी और कपड़े जब्त किए। आरोपी ने कबूल किया की प|ी का चरित्र ठीक नहीं था इस कारण उसे मार दिया। पुलिस ने आरोपी को केसला थाने में रखा। सोमवार दोपहर इटारसी कोर्ट लेकर आए जहां से ज्यूडिशियल रिमांड पर होशंगाबाद जिला जेल भेज दिया। पुलिस ने बताया प|ी के चरित्र पर रमेश को शक था। उनके बीच में विवाद होते थे। रविवार दोपहर भी विवाद हुआ। रमेश ने आवेश में आकर प|ी पर कुल्हाड़ी से चार वार किए। इससे उसने दम तोड़ दिया। वारदात खेत में बने टप्पर में हुई। नाबालिग पुत्र पिता का वहशी रूप देखकर थर्रा गया। पूरा वाक्या उसने भाई-बहनों और गांववालों को बताया। आरोपी ने खेत में कुल्हाड़ी फेंकी और कपड़े छपरी में छुपा दिए।

अस्पताल में रात भर रखा रहा शव, पिता के सुपुर्द किया

महिला की हत्या होने की सूचना मिलने पर केसला थाने से पुलिस छीतापुरा गांव पहुंची। घटनास्थल का निरीक्षण और पंचनामा बनाने में रात के साढ़े नौ बज गए। शव इटारसी के सरकारी अस्पताल लाए। रातभर शव डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी सरकारी अस्पताल में रखा रहा। सोमवार दोपहर पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों के सुपुर्द कर दिया।



शाहपुर के गांव से आए मृतका के पिता व आरोपी का भाई मौजूद था। पुलिस के अनुसार रमेश धुर्वे गांव में ही मिल गया। उसे केसला थाने में रखा गया।

इटारसी. केसला थाने से आरोपी रमेश धुर्वे को कोर्ट ले जाते पुलिसकर्मी।

दंपती की 5 संतानें, घटना का बना सबसे छोटा पुत्र गवाह

इस दंपती की 7 से 17 साल तक की उम्र की पांच संतान हैं। इनमें तीन लड़कियां और दो लड़के हैं। इस घटना ने पांचों बच्चों को बेसहारा कर दिया। वे सदमे से उबरे नहीं हैं। केसला थाना प्रभारी अशोक बरबड़े के अनुसार हत्या की वारदात का प्रत्यक्षदर्शी गवाह आदिवासी दंपती का सात साल का पुत्र नीतेश है। घटनास्थल पर मिले साक्ष्य और बेटे की गवाही आरोपी पिता को सजा दिला सकती है।

X
बेटे के सामने चरित्र के शक में कुल्हाड़ी से पत्नी का गला काटा
Astrology

Recommended

Click to listen..