--Advertisement--

दरवाजा तोड़कर घुसी पुलिस, सट्टा खेल रहे 61 से ज्यादा सटोरियों को किया अरेस्ट

पुलिस ने जिंदावली और सट्टे के अड्डे पर छापा मारकर 61 लोगों को गिरफ्तार किया है।

Danik Bhaskar | Dec 09, 2017, 07:52 AM IST

जबलपुर . कोतवाली थाना अंतर्गत सिंघई कॉलोनी कबूतरखाना में पुलिस ने जिंदावली और सट्टे के अड्डे पर छापा मारकर 61 लोगों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों के पास से 1 लाख 26 हजार रुपए नकद और 40 मोबाइल जब्त किए गए हैं। छापे के दौरान जिंदावली और सट्टे का अड्डा चलाने वाला नरेश ठाकुर फरार हो गया। पुलिस अधीक्षक शशिकांत शुक्ला को सूचना मिली कि सिंघई कॉलोनी कबूतरखाना में नरेश ठाकुर अपने मकान में जिंदावली और सट्टा खिला रहा है। एसपी ने ओमती सीएसपी, ओमती टीआईऔर बेलबाग टीआई की टीम को छापा मारने का निर्देश दिया।
बाइक से पहुंची पुलिस टीम

- ओमती सीएसपी अजीम खान जिंदावली और सट्टे के अड्डे पर छापा मारने के लिए बाइक से सिंघई कॉलोनी पहुंचे। पुलिस टीम ने नरेश ठाकुर के मकान को चारों तरफ से घेर लिया। जैसे ही जिंदावली और सट्टा खेल रहे लोगों को पुलिस के आने की भनक लगी, उन्होंने अंदर से दरवाजा बंद कर लिया।


दरवाजा तोड़कर घुसी पुलिस

- पुलिस ने जिंदावली और सट्टा खेल रहे लोगों को दरवाजा खोलने के लिए कहा, लेकिन उन्होंने दरवाजा नहीं खोला। पुलिस ने दरवाजा तोड़ दिया। इसके बाद पुलिस मकान के अंदर घुस गई। जैसे ही पुलिस अंदर घुसी, कुछ लोग इधर-उधर छिप गए। कुछ लोगों ने भागने का प्रयास किया, लेकिन पुलिस ने घेर लिया।


पीछे के दरवाजे से नाले में कूदे लोग

- पुलिस जैसे ही सामने के दरवाजे से घुसी। लगभग दो दर्जन लोग पीछे के दरवाजे से नाले में कूदकर भागने लगे। पुलिस कर्मियों ने नाले में कूदकर उन्हें भी पकड़ लिया। नाले में कूदने की वजह से कई पुलिस कर्मियों की वर्दी खराब हो गई।

सरगना हो गया फरार

-पुलिस की कार्रवाई के दौरान जिंदावली और सट्टे का अड्डा चलाने वाला नरेश ठाकुर फरार हो गया। बताया गया है कि नरेश ठाकुर लंबे समय से जिंदावली, जुआ और सट्टा खिला रहा है। उसके अड्डे पर पुलिस कई बार छापा मार चुकी है। थाना पुलिस की सेटिंग से वह दोबारा कोराबार शुरू कर देता है।

वज्र से आरोपियाें को लाया गया थाने

-सिंघई कॉलोनी में जिंदावली और सट्‌टा खेलते पकड़े गए 61 लोगांे को थाने लाने के लिए पुलिस कंट्रोल रूम से वज्र वाहन बुलवाया गया। वज्र वाहन की मदद से आरोपियों को कोतवाली थाने लाया गया।