--Advertisement--

हर्रई में बोले शिवराज- गोंड समाज के बच्चों को पहली से पीजी तक शिक्षा नि:शुल्क देंगे

गोंडवाना महासभा की मांग पर गोंडी भाषा को आठवी अनुसूची में शामिल कराने के लिए प्रयास करने का आश्वासन दिया।

Dainik Bhaskar

Feb 13, 2018, 07:30 AM IST
Gond society, who spoke in Harai, will be free education

अमरवाड़ा/छिंदवाड़ा. हर्रई में भारतीय गोंडवाना गोंड महासभा के तीन दिवसीय राष्ट्रीय अधिवेशन में मुख्यमंत्री ने कहा कि गोंड समाज के बच्चों को पहली से पीजी तक की शिक्षा पूरी तरह नि:शुल्क दी जाएगी। वन अधिकार पट्टे का दावा सच्चा साबित होगा। सभी आदिवासियों को अधिकार दिया जाएगा। उन्होंने गोंडवाना महासभा की मांग पर गोंडी भाषा को आठवी अनुसूची में शामिल कराने के लिए प्रयास करने का आश्वासन दिया।

- करीब चार बजे अधिवेशन में पहुंचे मुख्यमंत्री ने करीब डेढ़ घंटा मौजूद रहे। उन्होंने खुद को गोंडवाना का बेटा कहकर गोंड समुदाय को प्रभावित करने का प्रयास किया।

- रानी कमलावति की प्रतिमा स्थापित करेंगे: सीएम ने रानी कमलावति का जिक्र करते हुए कहा कि भोपाल में रानी ने कहा था कि वह भोपाल के छोटा तालाब में जल समाधि ले लेंगी, लेकिन उन्हें कोई हाथ नहीं लगाएगा।

- रानी कमलावति ने ऐसा ही किया। भोपाल में उनका महल है। शिवराज ने घोषणा की कि सरकार उनका बड़ा स्मारक बनाएगी। उनकी प्रतिमा भोपाल में स्थापित की जाएगी। महल का जीर्णाेद्धार भी होगा। गोंड सांस्कृतिक भवन का निर्माण किया जाएगा। आप विचार कर बताएं जबलपुर या भोपाल में निर्माण करना है।

गोंडी नृत्य पर थिरके सीएम
- गोंड आदिवासियों के परंपरागत नृत्य पर मुख्यमंत्री भी खूब थिरके। गुन्नुरशाही ढोल पर खुद मुख्यमंत्री ने मंजीरे थामे और करीब 15 मिनट तक नृत्य किया।
- उनके साथ फग्गन सिंह कुलस्ते, गौरीशंकर बिसेन, संपतिया उइके, अनुसुइया उइके, गोंडवाना नेता मनमोहन शाह बट्टी समेत गोंडवाना महासभा के नेताओं ने नृत्य किया।

X
Gond society, who spoke in Harai, will be free education
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..