--Advertisement--

NRI कोटे के 107 अपात्र कैंडिडेट के एडमिशन, निरस्त करने के लिए कैवियट फाइल

उम्मीदवारों की सीटें निरस्त करने के मामले में हाईकोर्ट में कैवियट दायर की गई है।

Danik Bhaskar | Dec 09, 2017, 06:35 AM IST

जबलपुर. डायरेक्टर मेडिकल एजुकेशन द्वारा प्रदेश के 7 निजी मेडिकल कॉलेजों में एनआरआई कोटे के तहत दिए गए 114 एडमिशन में से 107 अपात्र उम्मीदवारों की सीटें निरस्त करने के मामले में हाईकोर्ट में कैवियट दायर की गई है। उज्जैन के आदिश जैन और खंडवा के प्रांशु अग्रवाल ने अधिवक्ता आदित्य संघी के माध्यम से दायर की है।

- ये वही छात्र हैं जिनकी याचिका पर हाईकोर्ट ने एनआरआई और मॉपप राउंड में दिए गए एडमिशन की जांच करने और गलत पाए जाने पर कार्रवाई करने के निर्देश दिए थे।

- कोर्ट के निर्देश पर डीएमई ने एनआरआई कोटे के तहत 107 गलत एडमिशन पाए जाने पर 28 नवंबर को प्रवेश निरस्त करने का आदेश जारी किया था।

- कैवियट में कहा गया है कि अब यदि अपात्र एनआरआई छात्र हाईकोर्ट में याचिका दायर कर डीएमई के आदेश को चुनौती देते हैं तो कैवियटकर्ताओं को सुनवाई का अवसर दिया जाए