Hindi News »Madhya Pradesh »Jabalpur» If One Fails In A Subject, It Will Also Pass

एक विषय में फेल तो भी होंगे पास, लेकिन पांच में अच्छे नंबर लाना होगा जरूरी

पांचों विषयों में प्रथम श्रेणी के मार्क्स आने अनिवार्य होगा।

Bhaskar News | Last Modified - Nov 14, 2017, 08:12 AM IST

  • एक विषय में फेल तो भी होंगे पास, लेकिन  पांच में अच्छे नंबर लाना होगा जरूरी
    जबलपुर .कक्षा दसवीं में आधे से अधिक िवद्यार्थियों को पूरक आती है। यही कारण है िक माध्यमिक शिक्षा मंडल बेस्ट आॅफ फाइव योजना शुरू करने जा रहा है। इस योजना के तहत विद्यार्थी यदि पांच विषयों में अच्छे अंक लाता है और एक विषय में फेल भी हो जाता है तो उसे पास घोषित कर दिया जाएगा। इसके लिए फिलहाल अंक तय नहीं हुए हैं फिर भी सूत्र बता रहे हैं पांचों विषयों में प्रथम श्रेणी के मार्क्स आने अनिवार्य होगा।

    वैसे तो ये योजना िपछले साल ही तैयार की जा चुकी थी, लेकिन शासन से अनुमति के बाद इस साल से लागू किया जा रहा है। ताकि पूरक िवद्यार्थियों का प्रतिशत कम हाे सके। स्कूलों को इसके िलए सर्कुलर भी जारी िकया जा चुका है। यदि विद्यार्थी चार िवषयो में अच्छे अंक लाता है तो उसे एक विषय में पूरक िदया जाएगा।
    - स्कूलों में बोर्ड परीक्षाओं की तैयारियों के दौरान िवद्यार्थियों की दक्षता पर नजर रखी जा रही है। ये देखा जा रहा है िक वे िकस िवषय में कमजोर हैं और िकन िवषयों में होशियार, ताकि पास िवद्यार्थियों का प्रतिशत बढ़ सके।
    - वहीं जिन स्कूलों का परिणाम खराब आएगा उसका असर वहां के िशक्षकों और प्राचार्यों की वेतन वृद्धि पर भी पड़ेगा। इसलिए सभी काे योजना का लाभ उठाते हुए िवद्यार्थियों की पढ़ाई में हर संभव मदद की बात कही जा रही है।
    आखिर, क्यों बने ऐसे हालात ?
    - पूरक िवद्यार्थियों की संख्या में इजाफा होने की एक वजह कक्षा आठवीं तक िशक्षा का अधिकार अधिनियम लागू होना भी है। इसके तहत आठवीं तक िवद्यार्थियों को फेल न करने की शासन की योजना के कारण िशक्षा का स्तर काफी हद तक गिर गया है। िवद्यार्थियों का रुझान पढ़ाई के प्रति घटा है।
    -ि शक्षक भी कम ही ध्यान देते हैं। ऐसे िवद्यार्थी जब कक्षा नवमी और उसके बाद दसवीं में पहंुचते हैं तो अचानक से पढ़ाई का लोड सह नहीं पाते और फेल हो जाते हैं। ज्यादातर पूरक परीक्षाओं का िशकार बनते हैं। इसमें भी फेल होकर पढ़ाई छोड़ देते हैं। िवद्यार्थी को कम से कम दसवीं तक की डिग्री पास की देने के िलए शासन ने ये प्लानिंग की है।
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Jabalpur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×