--Advertisement--

बच्चियों का अपहरण कर ले जा रहे थे बेचने, ऐसे बचकर भागी बच्ची ने बताया ये

11 साल की बच्ची रुकमणी बदला हुआ नाम घर के समीप एक दुकान से चाकलेट लेकर लौट रही थी।

Dainik Bhaskar

Nov 18, 2017, 07:22 AM IST
The girls were being kidnapped and sold

जबलपुर. बच्चियों का अपहरण कर बेचने नागपुर ले जा रहे एक गिरोह के चंगुल में फंसी बच्ची ने हिम्मत दिखाई और वह प्लेटफार्म नंबर छह पर अपहरणकर्ताआें से बचकर भाग निकली। वह जब तक जीआरपी के पास पहुंची तब तक अपहरणकर्ता वैन से तीन अन्य बच्चियों को लेकर फरार हो गए। गुरुवार की रात 8 बजे संजीवनी नगर में अपने मामा के यहां रह रही 11 साल की बच्ची रुकमणी बदला हुआ नाम घर के समीप एक दुकान से चाकलेट लेकर लौट रही थी।

- उसी बीच उसके पास एक वैन आकर रुकी और उसमें से नीचे उतरे दो युवकों ने बच्ची को उठाकर जबरन वैन में बैठा लिया। उसके बाद अपहरणकर्ताओं ने गढ़ा से एक और बच्ची का अपहरण कर अपनी वैन मंे बैठाकर स्टेशन आ गए।

- स्टेशन के छह नंबर प्लेटफार्म के बाहर किनारे खड़ी वैन से दो बदमाश रुकमणी को लेकर नीचे उतरे और उसमें से एक नागपुर की टिकट लेने काउंटर पर चला गया। आरोपी युवक एक हाथ से बच्ची को पकड़े हुए था और दूसरे हाथ से मोबाइल पर बात करने लगा उसी बीच बच्ची मौका पाते ही हाथ छुड़ाकर भागने में सफल हो गई।

- प्लेटफार्म पर पहुंची बच्ची ने वेण्डर से पूछा थाना कहां है। उसी दौरान सहायक उपनिरीक्षक पीके अहिरवार घबराई बच्ची से मिले और पूछताछ करने लगे। बच्ची की बात सुनते ही हरकत में आए श्री अहिरवार ने अपने सहयोगी एएसआई देवी सिंह सोलंकी को बुलाकर आरोपियों की तलाश में बाहर पहुंचे जहां से वो फरार हो गए।

- बच्ची ने पुलिस को बताया कि वैन में पहले से ही तीन अन्य बच्चियां थीं जिसे चार-पांच युवक पकड़े थे जो काली टी-शर्ट और नीली जींस पहने थे जिनके मुंह पर कपड़ा बंधा हुआ था। रेल पुलिस को बच्ची के पास से मिली नागपुर की टिकट से साफ हो गया है कि अपहरणकर्ता उसे बेचने के लिये ले जा रहे थे।

- जीआरपी ने अज्ञात आरोपियों के खिलाफ धारा 363, 366 के तहत प्रकरण दर्ज कर अपहरणकर्ताओं की तलाश शुरू कर बच्ची को परिजनों के हवाले कर दिया। वहीं इस सराहनीय कार्य के चलते एडीजीपी भोपाल जीपी सिंह ने दोनाें पुलिस कर्मियों को पुरस्कृत करने घोषणा की है।

संजीवनी नगर से कुछ बदमाशो ने एक बच्ची का अपहरण कर नागपुर ले जाने स्टेशन ले आए थे। अपहरणकर्ताओं के चंगुल से भागी बच्ची को उसके परिजनों के हवाले कर दिया गया। जीआरपी ने अज्ञात बदमाशो के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर तलाश शुरू की है।
आरएस डहेरिया, पुलिस अधीक्षक रेल जबलपुर

X
The girls were being kidnapped and sold
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..